News Flash
Yellow Warning: 22-23 will hit dust storm

25 तक कड़े रहेंगे  मौसम के तेवर,  निचले और मैदानी इलाकों को राहत

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ का प्रकोप थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। इन हवाओं के कारण 22 व 23 मई को मौसम विज्ञान विभाग ने प्रदेश के निचले एवं मध्यवर्ती क्षेत्रों में आंधी-तूफान के साथ धूल भरी आंधी की यलो वॉर्निंग जारी की है।

प्रदेशभर में 25 मई तक मौसम के तेवर कड़े रहेंगे। इस दौरान निचले एवं मैदानी इलाकों को बीच-बीच में राहत मिलेगी, लेकिन मध्यम एवं अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में मौसम लगातार खराब रहेगा। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के मुताबिक 21 मई को निचले इलाकों में मौसम शुष्क रहेगा, लेकिन कम एवं अधिक ऊंचाई वाले कुछ इलाकों में कहीं-कहीं बारिश व गरज के साथ बौछार होने की संभावना है। इसी तरह 22 से लेकर 24 मई तक समूचे प्रदेश में कहीं-कहीं गरज के साथ बारिश होने और उच्च पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी की भी आशंका है।

इस बीच 22-23 मई को निचले व मैदानी और कम ऊंचाइयों पर आंधी-तूफान व धूल भरी आंधी की चेतावनी है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार 26 मई से पूरे प्रदेश में मौसम साफ हो जाएगा, लेकिन 25 मई को ऊपरी इलाकों में बारिश हो सकती है, जबकि अधिक ऊंचाई पर बर्फ गिरने की भी संभावना है। लिहाजा सोमवार को भी प्रदेश में मौसम तो साफ रहा, लेकिन पहाड़ी इलाकों में बीते दिनों हुई बारिश के कारण सुबह व शाम के समय की ठंड बरकरार है। इस दौरान ऊंचाई वाले कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश होने की भी सूचना है।

सोमवार को प्रदेश में सबसे कम तापमान लाहौल-स्पीति के केलांग में 5 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि सबसे गर्म ऊना व पांवटा साहिब क्षेत्र रहा, जहां अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। इसके अलावा राजधानी शिमला में न्यूनतम तापमान 14 डिग्री रहा, जबकि कल्पा में 7.6, मनाली में 9.6, कुफरी में 10.3, धर्मशाला में 14.8, मंडी में 16, चंबा में 17.2 और डलहौजी में 14.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। प्रदेश में सुंदरनगर, भुंतर, नाहन, कांगड़ा, मंडी, बिलासपुर, हमीरपुर व चंबा का अधिकतम तापमान 30 से लेकर 36 डिग्री सेल्सियस तक चल रहा है।

 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams