Blood pressure reduces blue light

अध्ययन : रक्तचाप कंट्रोल करने में सहायक है यह प्रकाश, ब्लू लाइट के संपर्क में रहने से हृदय रोग का भी कम हो जाता है खतरा

एजेंसी। लंदन : एक अध्ययन में पाया गया है कि नीली रोशनी के संपर्क में रहने से रक्तचाप (ब्लड प्रेशर) कम होता है जिससे हृदय रोग का खतरा भी कम हो जाता है।

यूरोपीयन जर्नल ऑफ प्रीवेंटेटिव कॉर्डियोलॉजी में प्रकाशित अध्ययन के लिए प्रतिभागियों का पूरा शरीर 30 मिनट तक करीब 450 नैनोमीटर पर नीली रोशनी के संपर्क में रहा जो दिन में मिलने वाली सूरज की रोशनी के बराबर है। इस दौरान दोनों प्रकाश के विकिरण के प्रभाव का आकलन किया गया और प्रतिभागियों का रक्तचाप, धमनियों का कड़ापन, रक्त वाहिका का फैलाव और रक्त प्लाज्मा का स्तर मापा गया। पराबैंगनी किरणों के विपरीत नीली किरणें कैंसरकारी नहीं हैं।

दवाइयों के बराबर काम करता है प्रकाश

ब्रिटेन के सरे विश्वविद्यालय और जर्मनी के हेनरिक हैनी विश्वविद्यालय डसेलडार्फ के अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि पूरे शरीर के नीली रोशनी के संपर्क में रहने के चलते प्रतिभागियों के सिस्टोलिक (उच्च) रक्तचाप तकरीबन 8 एमएमएचजी कम हो गया जबकि सामान्य रोशनी पर इस तरह का कोई प्रभाव नहीं पड़ा। नीले प्रकाश से रक्तचाप में कमी कुछ उसी प्रकार है जैसी दवाइयों के जरिए रक्तचाप को कम किया जाता है।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams