dangerous

Dangerous: Train Driver एक चूक भी मौत का कारन बन सकती है

Dangerous: आप मैं से सभी ने कभी न कभी train का सफर तो किया ही होगा और आप यह भी जानते होंगे हमारा आधुनिक विज्ञानं रेल सफर को ज्यादा से ज्यादा आराम देह और सुरक्षित बनाने के लिए पूरी प्रतिबद्धता और तेज गति से काम क्र रहा है लेकिन अलग – अलग जगहों पर ऐसे बहुत से रेलवे ट्रैक्स है जिन पर सफर करना खुद को मौत को दबत देने के सामान है यह रेलवे ट्रैक इतने दुर्गम रास्तों से होकर गुजरते है की यह हुए एक चूक भी मौत का कारन बन सकती है आज के इस विषय में हम ऐसे ही कुछ interesting, dangerous  और दुर्गम रास्तों के फैक्ट से आपको अवगत कराएंगे.

napier-gisbon

Napier Gisbon: अगर आपको हम कहें दुनिया में एक Airport ऐसा भी है. जहां एक पूरी की पूरी ट्रैन रोज वह की हवाई पट्टियों पर चलती है तो क्या आप इस बात पर यकीन करेंगे New Zealand के Neopor को gazebo से जोड़ने वाली रेलवे लाइन को gazebo रेलवे की हवाई पट्टी को cross करके गुजरना पड़ता है.

ह्लांकी इस हवाई पट्टी को क्रॉस करने से पहले train driver को Air traffic controller से अनुमति लेनी पड़ती है. ट्रैन के ड्राइवर या फिर Air traffic controller से हुए एक गलती यह भरी तबाही का कारन बन सकती है.

Maeklong railwayMaeklong Railway Track

महज एक 3.5 फ़ीट का ट्रैक है. जो के होने 66 K.M. के सफर मए वंगवानग्यी को समथसनसखराम से जोड़ता है. अपने इस 66 km के सफर मैं इस ट्रैक से गुजरने वाले ट्रेंस Maeklong railway मार्किट से गुजरना पड़ता है.

यह मार्किट रेलवे पटरियों से बिलकुल सट्ट कर लगाई जाती है. यह ट्रेंस के गुजरने का रास्ता इतना संकरण है की ट्रेंस के आते वक़्त मार्किट मै लगाई शेड्स को हटाना पड़ता है.

मार्किट दुकानदरों या ट्रैन के ड्राइवर से एक छोटी सुई भूल बहुत बड़ी घटना को अंजाम दे सकती है और कई जानो के जाने का खतरा यह बना रहता है और इस वजह से यह दुनिया की सबसे स्लो रेलवे लाइन है

 

 

 train trackTrain Las Nubes (The Train to The Clouds)

के नाम से जाना जाने वाला यह ट्रैन मार्ग 130 miles लम्बा है. जो अर्जेंटीना के उस सबसे खतरनाक और दुर्गम जगाओं से होकर गुजरता है. इस रेलवे ट्रैक को बनाने मए 27 साल का समय लगा और इन 27 सालों के लम्बे निर्माण कार्यो के दौरान तक़रीबन 400 मजदूरों को अपने जान से हाथ धोना पड़ा.

इस रेलवे लाइन का निर्माण करना इतना मुश्किल था की जब इस रेलवे लाइन को बनाया जा रहा था तो कई बार ऊंचाई ज़ादा होने के कारन काम कर रहे मजदूरों को चक्क्र आ जाता था.

और 1921 से 1948 के कार्य काल मए सुरक्षा के सदन न होंने के कारन मजदूरों की गिर कर मौत हो जाती थी

लकिन इस ट्रैक की बदक़िस्मती यह थी की 27 साल और 400 लोगो की जान गवाने के बाद जब यह निर्माण पूरा हुआ. तब तक रोड और हवाई सफर काफी उनती कर चुके थे और 1947 में इस रेलवे ट्रैक की अब किसी को जरूरत नहीं थी. यह रेलवे ट्रैक बकेयी बेहद खतरनाक है. इसकी ऊंचाई ज़ादा होने और अर्जेंटीना की जल वायु बे हद ठंडी होने के कारण इस रेलवे ट्रैक पर बेहद तेज़ हवाएं चलती है. जिनकी वजह से ट्रैन का ट्रैन ट्रैक पर पकड़ बनाये रखना बेहद मुश्किल हो जाता है.

trainBurma Railway Thailand (The Death Railway)

ट्रैक को “दी डेथ रेलवे” इस लिए कहा जाता है क्योंकी इस ट्रिंके निर्माण के वक़्त लग भाग 94000 workers की नदी मे गिरने से मौत हो गयी थी.

यह रेल ट्रैक 415 किलोमीटर लम्बा है. 415 k.m. का रास्ता किसी डरावने सपने से काम नहीं है. इस रेलवे ट्रैक की चौड़ाई काफी काम है और कई मोड़ों पर ऐसा लगता है. मनो ट्रैन हवा मैं चल रही हो इस रेलवे ट्रैक बह हद खतरनाक होने के कारण इस को 1947 में बंद के दिया गया था.

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams