News Flash
Visually impaired elderly in a tent for 3 years

न समाजसेवी न ही किसी अधिकारी ने ली खबर

अनुराग गुप्ता। धौलाकुआं : आदर्श जेल नाहन के नजदीक पूर्वी मोहल्ला निवासी 74 वर्षीय दृष्टिहीन बुजुर्ग 3 साल से कटासन मंदिर के नजदीक तिरपालनुमा टेंट लगाकर नरकीय जीवन जीने को मजबूर है। मंदिर कमेटी सदस्य, पुजारी व अन्य स्थानीय दुकानदार चाय व रोटी देकर बुजुर्ग का पेट भर रहे हैं।

श्रद्धालु भी रोटी व अन्य खाने का सामान दे देते हैं। न ही अभी तक किसी समाजसेवी की इस बुजुर्ग पर नजर नहीं पड़ी और न ही किसी अधिकारी और नेता ने उसकी खबर ली। ये बुजुर्ग जन्म से दृष्टिहीन नहीं हैं। पिछले 2 साल से इन्हें दिखाई देना बंद हो गया है। बताया जा रहा है कि बुजुर्ग अविवाहित हैं। अपनों के नाम पर परिवार में भाई और भतीजे हैं, जो नाहन में रह रहे हैं।

वहीं, आजकल नवरात्र चल रहे हैं, जिस कारण कटासन देवी मंदिर में हजारों श्रद्धालु आ रहे हैं। ये बजुर्ग को खाने-पीने का सामान दे जाते हैं नवरात्र के बाद ठंड का भी प्रकोप भी शुरू जाएगा, जिस कारण इन्हें कई और मुसीबतों का सामना करना पड़ेगा। ऐसे में बुजुर्ग को आस है कि कोई समाजसेवी मसीहा बनकर आएगा और उनके दुखों को दूर करेगा।

 

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]