chief minister

31 मार्च को PM मोदी करेंगे केएमपी एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन

  • रविवार को CM ने हेलिकॉप्टर से किया निरीक्षण
  • CM मनोहर लाल का ड्रीम प्रोजेक्ट है यह एक्सप्रेस-वे
  • 180 किलोमीटर का कॉरिडोर बदलेगा हरियाणा की तकदीर

निश्छल भटनागर। चंडीगढ़
मुख्यमंत्री मनोहर लाल का ड्रीम प्रोजेक्ट बहुत जल्द परवान चढऩे वाला है। एक माह में दूसरी बार रविवार को मुख्यमंत्री ने कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेस-वे की कार्य प्रगति का हवाई सर्वेक्षण करते हुए जायजा लिया। इस एक्सप्रेस-वे के बन जाने से लंबे जाम और दूरी तो कम होगी ही, साथ ही सड़कों पर ट्रैफिक का दबाव और प्रदूषण में भी कमी आएगी। इसके अलावा महत्वपूर्ण परियोजना के आसपास के क्षेत्रों का परस्पर विकास होगा और नए औद्योगिक क्षेत्र विकसित होंगे।

विश्वस्त सूत्रों की मानें तो मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से केएमपी एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वक्त मांगने संबंधी पत्राचार किया गया है। ऐसा माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी की ओर से समय मिलते ही केएमपी एक्सप्रेस वे राष्ट्र को समर्पित हो जाएगा।
बता दें कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल केएमपी एक्सप्रेस-वे परियोजना को जल्द पूरा करवाने को लेकर कृतसंकल्प हैं।

आने वाले दिनों में हरियाणा वेयरहाउसिंग इंडस्ट्री और लॉजीस्टिक हब के तौर पर डेवेलप होगा

इसी कड़ी में बीती 12 फरवरी को भी उन्होंने खुद ही सोनीपत जाकर चल रहे काम और प्रगति का जायजा किया था। उसी कड़ी में आज भी सीएम मनोहर लाल ने मौके का हवाई सर्वे किया है। बताया जाता है कि अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने एवं विभिन्न प्रकार के उद्योगों, व्यवसायों व अन्य प्रकार की गतिविधियों को सृजित करने के लिए बनाए जा रहे कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेस-वे के दोनों ओर एक-एक किलोमीटर के अंदर तक उद्योग संबंधी ढांचागत विकास किया जाएगा।

गौरतलब है कि हरियाणा- दिल्ली के तीन तरफ से है और प्रदेश के विकास के लिए भौगोलिक स्थिति का पूरा दोहन किया जाए, सीएम की यही कोशिश है। आने वाले दिनों में हरियाणा वेयरहाउसिंग इंडस्ट्री और लॉजीस्टिक हब के तौर पर डेवेलप होगा। इसी कड़ी में प्राइवेट सेक्टर में ज्यादा से ज्यादा युवाओं के लिए रोजगार उपलब्ध कराने पर सरकार का पूरा जोर होगा। कुल मिलाकर हरियाणा नई इबारत लिखने को तैयार है। (केएमपी) कोंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस -वे लगभग तैयार है।

मुख्यमंत्री द्वारा रविवार को किए गए हवाई सर्वे से इस बात को और बल मिलता है कि अब जल्दी ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका उद्घाटन कर सकते हैं। हालांकि सीएमओ की ओर से 31 मार्च का समय मांगा गया है। इसके उद्घाटन के बाद हरियाणा उत्तर भारत का लॉजिस्टिक हब बन जाएगा और नई ऊंचाईयों की ओर अग्रसर होता दिखेगा।

…तो मनोहर सरकार की नीतियां हू-ब-हू

कॉपी कर रही पंजाब सरकार

चंडीगढ़। राजनीति में सिर्फ विरोध के लिए तो विरोध बहुत होता है, पर किसी सरकार की नीतियां अगर सोची समझी और प्रभावी हों तो आस-पड़ोस की… खासकर विरोधी दलों की सरकारें भी उन नीतियों को कॉपी करने को मजबूर हो जाती हैं। कुछ ऐसा ही सुखद संयोग हो रहा है हरियाणा और पंजाब के साथ। हरियाणा ने साल 2017 से ही ऑनलाइन टीचर ट्रांसफर पॉलिसी सफलतापूर्वक लागू कर दी। इसके बाद 36 हजार से ज्यादा शिक्षकों ने ऑनलाइन ट्रांसफर करवाते हुए राहत की सांस ली।

अब इसी नीति से प्रभावित होकर पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार ने हु-ब-हू ट्रांसफर पॉलिसी को लागू करने का फैसला किया है। ये इस बात पर मुहर है कि हरियाणा के सीएम मनोहर लाल की पारदर्शी और स्पष्ट नीतियां अब देश भर में नजीर बन रही हैं। हरियाणा विस का बजट सत्र अभी चल रहा है और पड़ोसी राज्य पंजाब का बजट सत्र 20 मार्च से शुरू होने वाला है।

सत्र से पहले पंजाब की कैबिनेट ने हरियाणा की तर्ज पर ऑनलाइन टीचर ट्रांसफर पॉलिसी को हरी झंडी दे दी है। अब पंजाब में भी साल में एक बार ही टीचरों के ट्रांसफर हुआ करेंगे, वो भी ऑनलाइन… ताकि धांधली और भेदभाव खत्म हो। इसके अलावा हरियाणा सरकार की तर्ज पर पंजाब में भी 12 साल तक की बच्चियों से रेप आरोपी को उम्रकैद या फांसी तक की सजा देने की आवाज उठने लगी है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams