fortis

बच्ची की मौत मामले में सरकार का बड़ा एक्शन

चंडीगढ़
स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने 7 वर्षीय बच्ची की मौत और उपचार के नाम पर करीब 16 लाख रुपये की वसूली करने वाले गुरुग्राम स्थित फोर्टिस अस्पताल को तुरंत प्रभाव से राज्य सरकार के पैनल से हटाने के निर्देश दिए हैं।

विज ने कहा कि इस अस्पताल में उपचार के दौरान बच्ची की मौत हो गई थी तथा अनाप-शनाप बिल बनाया गया था। इस मामले की जांच के लिए विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक डॉ. राजीव वढेरा के नेतृत्व में जांच टीम का गठन किया था। इनकी रिपोर्ट पर अस्पताल के खिलाफ FIR दर्ज करने तथा ब्लड बैंक का लाइसैंस रद करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण को भूमि की लीज कैंसल करने संबंधी संभावनाएं तलाशने के आदेश भी दिए हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को भेजी जाएगी रिपोर्ट

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा को जांच रिपोर्ट भेजी जाएगी। कुछ ऐसी दवाइयां हैं जिनके मूल्य अभी तक निर्धारित नहीं है, उनके मूल्य निर्धारण के लिए आग्रह किया जाएगा।

जल्द लागू होगा क्लीनिकल इस्टैब्लिशमैंट एक्ट : विज

हिमाचल दस्तक। चंडीगढ़
स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि बेहतर चिकित्सकीय सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए जल्द ही क्लीनिकल इस्टैब्लिशमैंट एक्ट लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर जरूरत हुई तो इसके लिए अध्यादेश भी लाया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि कई निजी अस्पताल उपचार के नाम पर मरीजों से अधिक पैसा वसूलते हैं। इससे आम आदमी परेशान होता है। अस्पतालों में ओवर चार्जिंग पर नकेल कसने के लिए क्लीनिकल स्थापना अधिनियम कारगार साबित होगा। उन्होंने कहा कि इससे आज जनमानस को भी राहत भी मिलेगी। इस एक्ट के लागू होने से निजी अस्पतालों में भी मूलभूत सुविधाएं मुहैया होंगी और उपचार की विभिन्न प्रक्रियाओं के दामों की सूची भी लगानी होगी।

एनएचएम कर्मियों को सरकार का नोटिस

चंडीगढ़। हरियाणा एनएचएम कर्मचारी संघ की हड़ताल हेल्थ डिपार्टमेंट ने सख्ती दिखाई है। सरकार ने हड़ताल पर गए कर्मियों को काम पर लौटने का नोटिस दिया। कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से जनता के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग को भी परेशानी का सामना करना पड़ा। मरीजों को ओपीडी की पर्ची बनवाने से लेकर दवा लेने तक में परेशानी उठानी पड़ी। कर्मचारियों ने अपनी मांगों को मनवाने के लिए एमरजेंसी सेवाओं की ड्यूटी भी छोड़ दी। जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग कच्चे अधिकारियों की मदद ले जैसे-तैसे सेवाएं दे रहा।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams