News Flash
gurugram shootout

जज की सहमति के बाद ध्रुव की दोनों किडनियों और लिवर को सर्जरी कर निकाल लिया

हिमाचल दस्तक । गुडग़ांव
जज कृष्णकांत के बेटे ध्रुव की भी मंगलवार सुबह चार बजे मेदांता अस्पताल में मौत हो गई। अंगदान के लिए जज की सहमति के बाद ध्रुव की दोनों किडनियों और लिवर को सर्जरी कर निकाल लिया गया, जिनसे तीन लोगों को नया जीवन मिला है।

दोपहर करीब 12 बजे पोस्टमॉर्टम के लिए ध्रुव का शव ले जाया गया। पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉ. दीपक माथुर और डॉ. पवन चौधरी की टीम ने बताया कि दो गोली सिर के आर-पार हो गई थी, तीसरी गोली गर्दन में लगी थी। इसकी वजह से ही ध्रुव का ब्रेन डेड हो गया था। जज के गनर महिपाल ने 13 अक्तूबर को उनकी पत्नी रितु और बेटे ध्रुव को गोली मार दी थी।

रितु की अगले दिन अस्पताल में मौत हो गई थी, जबकि ब्रेन डेड होने के बाद ध्रुव का मेदांता में इलाज चल रहा था। मेदांता हॉस्पिटल के प्रवक्ता ने बताया कि ध्रुव के शरीर की दो किडनियों और एक लीवर से 3 लोगों को जीवनदान मिला है। तीन अलग-अलग मरीजों को ये अंग लगा दिए गए हैं। प्रवक्ता ने बताया कि हॉस्पिटल की पॉलिसी के अनुसार मृतक के परिवार को भी नहीं बताया गया कि ये अंग किस मरीज को लगाए गए हैं। यह बात सार्वजनिक नहीं की जा सकती।

यह भी पढ़ें – बहन ने सगे भाई पर लगाया दुष्कर्म का आरोप, केस दर्ज

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams