News Flash
Ram Rahim Case

समर्थक उग्र, हिंसा में 31 लोगों की मौत

पंजाब और हरियाणा के कई शहरों में कफ्र्यू, कई राज्यों में अलर्ट

कब क्या हुआ….

  • साल 2002: तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को साध्वी की चिट्ठी मिली।
  • सितंबर 2002:  हाईकोर्ट ने केस CBI को दिया।
  • जुलाई 2006: साध्वी ने बयान दर्ज कराया।
  • सितंबर 2007: हाईकोर्ट ने अंतरिम जमानत दी।
  • जुलाई 2007: CBI ने चार्जशीट दायर की।
  • सितंबर 2008: CBI कोर्ट ने आरोप तय किए।
  • फरवरी 2009: साध्वी का कोर्ट में बयान दर्ज।
  • सितंबर 2010: एक और साध्वी का बयान दर्ज।
  • 1 अगस्त 2017: फैसला सुरक्षित रखा।
  • 25 अगस्त 2017: CBI की विशेष अदालत में बाबा राम रहीम दोषी करार दिए गए।

एजेंसी। पंचकूला

पंचकूला शहर की एक विशेष CBI अदालत ने शुक्रवार को स्वयंभू बाबा गुरमीत राम रहीम सिंह को 2002 के बलात्कार के एक मामले में शुक्रवार को दोषी करार दिया। इसके बाद पंजाब एवं हरियाणा में उनके समर्थकों ने व्यापक हिंसा और आगजनी की। प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए पुलिस ने गोली चलाई। हिंसा में कम से कम 31 लोगों की मौत हो गई और 250 लोग घायल हो गए। पंचकूला में 29 लोगों की मौत हो गई जो हिंसा का केंद्र बन गया, वहीं दो लोग सिरसा में मारे गए जो राम रहीम के डेरा सच्चा सौदा का मुख्यालय है।

देर शाम हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर पंचकूला पहुंचे। पंचकूला और सिरसा में सेना तैनात की गई है। अधिकारियों ने कहा कि चारों तरफ जमकर तबाही मचाई गई। कई जगह आगजनी की गई। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने हिंसा के मद्देनजर शनिवार को सुरक्षा स्थिति की समीक्षा बैठक बुलाई है। बैठक में गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी, अर्द्धसैनिक बलों के प्रमुख और खुफिया एजेंसी के अफसर शामिल होंगे। सीबीआई न्यायाधीश जगदीप सिंह   प्रमुख राम रहीम को 2002 में एक अनाम लिखित शिकायत के आधार पर दर्ज किए गए मामले में बलात्कार का दोषी करार दिया।

सजा को उम्रकैद तक बढ़ाया जा सकता है

शिकायत में उन पर दो महिला अनुयायियों के यौन उत्पीडऩ का आरोप लगाया गया था। रिपोर्ट के आधार पर पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के निर्देश पर उनके खिलाफ दिसंबर, 2002 में मामला दर्ज किया गया था। गुरमीत राम रहीम सिंह को एक अदालत द्वारा बलात्कार का दोषी करार दिए जाने के दो घंटे के अंदर उनके हजारों समर्थकों ने उपद्रव शुरू कर दिया और वाहनों, इमारतों और रेलवे स्टेशनों को आग के हवाले कर दिया।  उन्हें इस मामले में कैद की सजा सुनाई जा सकती है जो सात साल से कम नहीं होगी। इसे उम्रकैद तक बढ़ाया जा सकता है।

इसके बाद डेरा सच्चा सौदा ने एक बयान में इस फैसले को अन्यायपूर्ण करार देते हुए कहा कि वह फैसले के खिलाफ अपील करेगा। फैसला सुनाए जाने के बाद आज बड़े पैमाने पर जारी हिंसा के बीच डेरा प्रवक्ता दिलावर इंसा के हस्ताक्षर वाले बयान में शांति की अपील की गई है।  पुलिस ने हिंसा पर रोकथाम के लिए हवाई गोलीबारी की, प्रदर्शनकारियों पर आंसूगैस के गोले छोड़े और पानी की बौछार की। पंचकूला के बाहर हरियाणा, पंजाब और यहां तक कि राजस्थान के कुछ इलाकों में हिंसा फैलने की खबरें आ रही हैं। पुलिस ने कहा कि पूर्वाेत्तर दिल्ली के लोनी चौक में कथित तौर पर डेरा सच्चा सौदा समर्थकों ने बस में आग लगा दी।

28 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनाई जाएगी सजा

नई दिल्ली। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को सुनाई जाने वाली सजा पर फैसला करने के लिए सुनवाई 28 अगस्त को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी। सीबीआई के सूत्रों ने बताया कि सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी। डेरा प्रमुख को सात साल के कारावास से लेकर उम्रकैद तक की सजा हो सकती है।

अटैच होगी डेरा की संपत्ति

हाई कोर्ट राम रहीम पर फैसले के बाद समर्थकों की हिंसा पर पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट का बड़ा फैसला आया है। कोर्ट ने राम रहीम की सारी संपत्ति जब्त करने के आदेश दिए हैं। कोर्ट के आदेश के मुताबिक राम रहीम की संपत्ति बेचकर नुकसान की भरपाई की जाएगी। पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट ने हरियाणा सरकार से राम रहीम की संपत्तियों की डिटेल मांगी है।

राजनाथ ने की स्थिति की समीक्षा

नई दिल्ली। बलात्कार के एक मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की दोषसिद्धि के बाद हिंसा के बीच, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ में स्थिति की समीक्षा की। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि सिंह ने हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्रियों मनोहर लाल खट्टर और अमरिंदर सिंह को फोन भी किया और मुख्यमंत्रियों ने उन्हें वर्तमान स्थिति और सामान्य स्थिति बहाल करने के कदमों के बारे में बताया। उन्होंने दिल्ली और राजस्थान के CM से भी बात की।

मीडिया पर निशाना

अपने  गुरु को दोषी करार दिए जाने से भड़के  डेरा समर्थकों ने जमकर मीडिया को निशाना बनाया। टीवी चैनलों की ओबी वैनों को आग लगा दी गई। पत्रकारों पर भी हमला किया गया।

राम रहीम को एयरलिफ्ट कर रोहतक पहुंचाया

रोहतक। साध्वी यौन शोषण मामले में पंचकूला CBI कोर्ट द्वारा दोषी करार दिए जाने के बाद डेरा प्रमुख राम रहीम को एयरलिफ्ट किया गया। आर्मी के हेलिकॉप्टर से राम रहीम को पुलिस प्रशिक्षण केंद्र सुनारिया के अंदर अस्थायी हेलिपेड पर उतारा गया। वहां से राम रहीम को सुनारिया के रेस्ट हाउस में रखा गया है। उनके वहां पहुंचने से पहले ही सीआईएसएफ की कंपनी तैनात कर दी गई। सीआईएसएफ ने पीटीसी सुनारिया से 3 किलोमीटर के एरिया को सील कर दिया है। सुरक्षा को लेकर भारी इंतजाम किए गए हैं।

 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों द्वारा हिंसा और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाए जाने की निंदा की और सभी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की।डेरा प्रमुख के खिलाफ फैसला सुनाए जाने के बाद उनके हजारों समर्थक तोडफ़ोड़ पर उतर आए। फैसला आने के बाद कई गाडिय़ों और रेलवे स्टेशनों को आग लगादी गई।

हरियाणा की हिंसा पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया कि आज हिंसा की घटनाओं से गहरा दुख होता है। मैं हिंसा की निंदा करता हूं और हर किसी को शांति बनाए रखने का आग्रह करता हूं। कानून-व्यवस्था की स्थिति पर बारीकी से नजर रखी जा रही है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि डेरा प्रमुख के खिलाफ सीबीआई कोर्ट के फैसले के बाद समर्थकों में शामिल कुछ आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों ने उत्पात मचाया है। उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई  की जा रही है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति कानून से ऊपर नहीं है। कानून हाथ में लेने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams