Ram Rahim Dera

पेट्रोल बम, चाकू, तलवार समेत 18 अन्य धारदार हथियार बरामद

कहा, अदालत के आदेशों की पालना करना सरकार का प्रमुख लक्ष्य रहा

एजेंसी। नई दिल्ली
हरियाणा पुलिस ने राज्य के कई जिलों में मौजूद डेरा सच्चा सौदा के करीब 103 ‘नाम चर्चा घरों’ को खाली करा लिया है। जिन नामचर्चा घरों को सील किया गया है, वहां से पेट्रोल बम, लाठी डंडों के अलावा अन्य हथियार भी बरामद हुए हैं। बताया जा रहा है कि इन जगहों से बड़ी संख्या में हथियार और दूसरे आपत्तिजनक सामान मिले हैं।

हरियाणा के डीजीपी बीएस सिंधु ने कहा कि नाम चर्चा घरों से एक बड़ा चाकू, एक तलवार और 18 अन्य धारदार हथियार बरामद किए गए हैं। इसके अलावा 104 डंडे, 48 लोहे की रोड, 21 बोतल डीजल, पेट्रोल और मिट्टी का तेल समेत कई हथियार बरामद किए हैं। नाम चर्चा घरों से टीवी, एलईडी और डीवीडी प्लेयर जैसी चीजें भी बरामद की हैं।

953 दंगई गिरफ्तार 56 पर FIR

राम रहीम के समर्थकों द्वारा पंचकूला में उत्पात मचाने, आगजनी करने, तोडफ़ोड़ करने और दंगे करने के मामले में अभी तक 56 लोगों पर FIR दर्ज की गई है। अब तक 953 दंगाई गिरफ्तार किए गए हैं। कुछ को जमानत मिल गई हैख् तो कुछ से गंभीर मामलों में पूछताछ हो रही है।

कफ्र्यू हटते ही दो गुटों में झड़प 3 बाइक फूंकीं

सिरसा। राम रहीम को साध्वियों से रेप मामले में दोषी करार के बाद हरियाणा के कुछ जिलों में कफ्र्यू लगा हुआ था। मंगलवार को कफ्र्यू में ढील दी गई थी। वहीं बुधवार को सिरसा में 2 गुटों में हिंसक झड़प हो गई। बताया जा रहा है कि ये हिंसक झड़प सिरसा के रानिया रोड पर हुई है। झड़प इतनी बढ़ गई कि तीन बाइकों को आग के हवाले कर दिया गया।

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने हालात को संभाल लिया है। अभी वहां शांति बना ली गई है। दो गुटों में झड़प किन कारणों से हुई है और मोटरसाइकिलों को आग किसने लगाई इसका अभी खुलासा नहीं हुआ है। इसके साथ ही 2 लोगों के घायल होने की भी खबर है।

अब राज्य में सामान्य है स्थिति- मुख्यमंत्री

हिमाचल दस्तक। चंडीगढ़
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि गत दिनों हरियाणा में डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के मामले मेंहुए घटनाक्रम के पश्चात वर्तमान में हरियाणा में स्थिति सामान्य है तथा स्थिति को सामान्य बनाए रखने के लिए प्रदेश में व्यापक स्तर पर प्रबंध किए हुए हैं। उन्होंने कहा कि डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के मामले में न्यायालय के आदेशों की पालना करवाना राज्य सरकार का प्रमुख लक्ष्य रहा और इस दिशा मेें काफी संयम से कार्यवाही की गई थी। उन्होंने कहा कि पुलिस व अन्य सुरक्षा बलों द्वारा कम से कम बल का प्रयोग कर स्थिति को नियंत्रितकिया गया।

यह जानकारी उन्होंने बुधवार को नई दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत करते हुए दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र में हम मत के लिए सभी से अपील करते हैं और जो सहयोग करता है, उसका सहयोग लेना होता है परंतु इसका यह अर्थ नहीं है कि किसी प्रकार का कोई कानून तोडऩे की शर्त पर कोई सहयोग लिया जाता है। सभी को कानून के दायरे में रहना होता है और कोई भी व्यक्ति कानून से बड़ा नहीं है।

न्यायालय में जाने के दौरान गुरमीत राम रहीम के साथ दो-दो विधायक होने के बारे में मीडिया द्वारा किए गए प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा कोई विधायक उनके साथ नहीं था और इस प्रकार का कोई विषय नहीं है। गुरमीत राम रहीम से सार्वजनिक रूप से मिलते रहने के सवालों पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले जो मिलते रहे वो मिलते रहे परंतु घटनाक्रम के दिन तथा उसके बाद न कोई विधायक व न ही कोई मंत्री उनसे मिला है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams