News Flash
asafoetida

गुणकारी हींग

आयुर्वेद में हींग को बहुत ही गुणकारी माना जाता है, बस एक सावधानी रखिए की हींग हमेशा घी में ही तली या भुनी जानी चाहिए…

हींग को हम रोज खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए दाल, सब्जियों में डालते हैं। इससे खाना जायकेदार तो बनता ही है साथ ही यह पेट के लिए भी अच्छा रहता है। हींग अपच, पेट दर्द, दांत दर्द, खांसी, सर्दी सिरदर्द को भगाता है। इसके उपयोग से बात-कफ को दूर करने वाले उदर संबंधी रोग, पेट की गैस और कृमियों से छुटकारा मिलता है।

हींग को पानी में उबालकर उस पानी से कुल्ले करने से दांत का दर्द कम होता है। यदि आपके दांत में पोल हो, तो पोल में हींग भरने से दांत के कीड़े मर जाते हैं और दांत की पीड़ा दूर हो जाती है।

घी में भूनी हुई हींग घी के साथ खाने से गर्भवती महिला को चक्कर नहीं आते और शूल मिटता है।

हींग, सोंठ, और मुलहठी समान मात्रा में लेकर पीस लें। फिर इसे शहद में मिलाकर चने के बराबर गोलियां बना लें। भोजन के बाद एक गोली मुंह में रखकर दोनों वक्त चूसें। कब्ज से राहत मिलेगी।

अगर शरीर पर दाद हो गया तो थोड़ी सी हींग पानी में घिसकर प्रभावित अंग पर लगाएं, इससे दाद जल्दी ठीक हो जाता है।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams