News Flash
heart

अच्छे स्वस्थ्य जीवन के लिए जरूरी

दिल का स्वस्थ रहना जीवन के लिए जरूरी है। ऐसे में वैसी किसी भी चीज की अनदेखी भारी पड़ सकती है, जिससे दिल की सेहत को खतरा हो। विशेषज्ञों का कहना है कि ज्यादातर लोग नहीं जानते कि सेहत से जुड़ी कौन-कौन सी समस्याएं दिल की बीमारी से जुड़ी हो सकती हैं। उनके मुताबिक, सिर्फ मोटापा अकेला कारण नहीं है जो दिल को प्रभावित करता है, बल्कि ऐसी अनेक चीजें हैं, जो दिल की बीमारी का संकेत हो सकती हैं…

खर्राटे या नींद के दौरान सांस में अवरोध :

खर्राटे अमूमन सोने के दौरान सांस में अवरोध के कारण होते हैं। लेकिन नींद के दौरान सांस में अवरोध कई मनोवैज्ञानिक बदलावों से भी जुड़ा होता है, जिससे दिल के दौरे और आघात का खतरा बढ़ जाता है। खर्राटा दिल के प्रकोष्ठों में अनियमित कंपन का कारण भी हो सकता है, जिससे रक्त प्रवाह प्रभावित होता है।

मसूढ़ों से रक्तस्राव या सूजन :

मसूढ़ों में सूजन या रक्तस्राव को अक्सर मुंह की समस्या माना जाता है। लेकिन विशेषज्ञों की मानें तो अस्वस्थ मसूढ़े दांतों के ईद-गिर्द के उत्तकों के सूजन के संकेत हो सकते हैं, जिससे शरीर के अन्य हिस्सों में भी सूजन हो सकती है। इससे धमनियों में मैल जम सकती है, जिससे दिल के दौरे का खतरा बढ़ जाता है।

कंधों या गर्दन में दर्द :

कई लोग दिल के दौरे के समय छाती पर बेहद भार महसूस करते हैं, जबकि कई दूसरे लोग ऐसी स्थिति में अपनी बांहों में सनसनी अनुभव करते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि दिल के दौरे के अनेक मामलों में व्यक्ति पहले असुविधाजनक सनसनी, गर्दन, जबड़े या कंधों में दबाव या दर्द महसूस करता है।

पैरों और पंजों में सूजन :

पैरों और पंजों में कई कारणों से सूजन हो सकती है। लेकिन फूले हुए पैर और पंजे दिल के नाकाम होने का चिह्न भी हो सकते हैं। सामान्य सूजन के मुकाबले दिल की समस्या से जुड़ा सूजन लगातार बना रहता है।

अपच या दिल की चुभन :

दिल में चुभन या अपच एक सामान्य-सी समस्या है। लेकिन कुछ मामलों में पेट के ऊपरी हिस्से में जलन या चुभन दिल के दौरे का पूर्व संकेत भी हो सकता है। यही बात लगातार अपच की समस्या बनी रहने के बारे में भी सही है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams