News Flash
mustard oil

यह शरीर में गर्माहट पैदा करने में भी मददगार होता है

कड़वे तेल के नाम से पारंपरिक रूप से उपयोग किया जाने वाला सरसों का तेल अपनी तासीर और गुणों के कारण कई तरह की समस्याओं में औषधि के रूप में भी उपयोग किया जाता है। सरसों के तेल को बहुत पौष्टिक माना जाता है, इसलिए इसका प्रयोग खाना बनाने के लिए भी किया जाता है। इसकी तासीर गर्म होने से सर्दियों में यह अत्यंत लाभकारी माना जाता है। सरसों के तेल की मालिश करने से शरीर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं और रक्त संचार भी बेहतर होता है। यह शरीर में गर्माहट पैदा करने में भी मददगार होता है।

दांतों की तकलीफ में सरसों के तेल में नमक मिलाकर रगडऩे से फायदा होता है, साथ ही दांत पहले से अधिक मजबूत हो जाते हैं। त्वचा संबंधी समस्याओं में भी बेहद फायदेमंद होता है। यह शरीर के किसी भी भाग में फंगस को बढऩे से रोकता है और त्वचा को स्वस्थ और चमकदार बनाता है। यह बालों की जड़ों को पोषण देकर रक्तसंचार बढ़ाता है जिससे बालों का झडऩा बंद हो जाता है। इसमें ओलिक एसिड और लीनोलिक एसिड पाया जाता है,

जो बालों की ग्रोथ बढ़ाने के लिए अच्छे होते हैं। सरसों तेल को कई लोग एक टॉनिक के रूप में भी प्रयोग करते हैं। यह शरीर की कार्य क्षमता बढ़ा कर शरीर की कमजोरी को दूर करने में सहायता करता है। इस तेल की मालिश के बाद स्नान करने से शरीर और त्वचा दोनों स्वस्थ रहते हैं।

यह भी पढ़ें – कुपोषण को दूर करते हैं अंडे

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams