News Flash
sabudana

साबुदाना को खाने के निम्न स्वास्थ्य लाभ होते हैं

साबुदाना, भारत में उपवास के दिनों में खाया जाने वाला प्रमुख भोजन है, जो ऊर्जा और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है। इसे, स्टार्च के रूप में सागो पाम तने के केंद्र से निकाला जाता है। इसे टोपिका पल्र्स के नाम से भी जाना जाता है। इसे खाने से शरीर को भरपूर ऊर्जा मिलती है और इसे कई प्रकार से बनाया जाता है। मीठा, नमकीन, खिचड़ी आदि रूपों में साबुदाना को खाना पसंद किया जाता है। कई प्रांतों में तो इसका उपमा और सूप भी बनता है। खाने को बनाने में ग्रेवी को गाढ़ा करने में भी इसके रस का उपयोग किया जाता है…साबुदाना को खाने के निम्न स्वास्थ्य लाभ होते हैं

पाचन में सहायक

साबुदाना उस स्थिति में बेहद लाभकारी होता है, जब आपको पाचन में दिक्कत हो। पेट में किसी प्रकार की बीमारी होने पर भी साबुदाना लाभदायक होता है। इसे चीनी मिलाकर खीर बनाकर खाने से लाभ मिलता है।
स्वास्थ्य लाभ

पोषक तत्वों से भरपूर

साबुदाने का आकार लगभग 2 मिमी. व्यास का होता है। इसमें भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट और ऊर्जा होती है। एक ग्राम साबुदाना में 355 कैलोरी होती है, साथ ही साथ 93 ग्राम कार्बोहाइड्रेट भी होता है।

साबुदाना और शरीर

साबुदाना का मुख्य घटक कार्बोहाइड्रेट है और इतिहास में इसे हर्बल मेडिसिन के रूप में जाना गया है। चावल के साथ इसका सेवन करने से शरीर में ठंडक बनी रहती है। कई देशों में भी इसे शरीर की प्रक्रिया को सुधारने के लिए उपयोग में लाया जाता है।

साबुदाना व्यंजन

साबुदाना को कई तरीकों से बनाया जाता है। इसे मीठा, नमकीन आदि हर तरह के स्वाद में बनाया जा सकता है। इसे बनाने से पहले भिगो दिया जाता है, ताकि यह आसानी से पूरी तरह पक जाए।

ऊर्जा से भरपूर

सागो भोजन, ऊर्जा से भरपूर होता है, यही कारण है कि इसे उपवास के दिनों में खाया जाता है। बीमार लोग भी इसे आसानी से खाकर हजम कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें – सरसों के तेल से दिल की बीमारी का खतरा कम

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams