News Flash
spices blood pressure

आइए देखें कौन से हैं वे मसाले…

उच्च रक्तचाप यानी हाई ब्लड प्रेशर एक आम समस्या बन चुकी है। खराब दिनचर्या, काम का बोझ और बाजारू खाना खाने के चक्कर में यह और भी ज्यादा बढ़ती जा रही है। जब हार्ट की धमनियों में प्रेशर बढ़ता है तब ब्लड को ऑर्गन तक सप्लाई करने के लिए ज्यादा प्रेशर लगाना होता है, इसे हाई ब्लड प्रेशर कहते हैं…

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षणों में सिरदर्द, चक्कर आना और दिल की धड़कनें बढ़ जाना आदि शामिल हैं। हाई बीपी के रोगियों को अपने खाने में बहुत ही हल्का या फिर नाम मात्र का नमक डालना चाहिए। इसके अलावा डिब्बा बंद और पैकेट वाली चीजों को खरीदते वक्त उनके पैकेट पर नजर भी डालनी चाहिए कि उसमें कितना नमक है। हाई बीपी को दवा से तो कंट्रोल किया ही जा सकता है। अगर आप कुछ घरेलू मसालों को भी अपनी जीवनशैली में शामिल कर लें तो आपके लिए फायदा होगा। इन मसालों से आपका रक्तचाप नीचे आ सकता है, आइए देखें कौन से हैं वे मसाले…

लहसुन

लहसुन एक एंटीबैक्टीरियल, एंटीऑक्सीडेंट, लिपिड को कम करने वाला और उच्च रक्तदाबरोधक के गुणों से भरी जड़ी बूटी है। सुबह खाली पेट ताजी लहसुन की दो कलियां खाने से जल्द लाभ मिलेगा।

अदरक

अदरक में ताकतवर एंटी-ऑक्सीडेट्स होते हैं जो कि बुरे कॉलेस्ट्रोल को नीचे लाने में काफी असरदार होते हैं। अदरक से आपके रक्त संचार में भी सुधार होता है, धमनियों के आसपास की मांसपेशियों को भी आराम मिलता है जिससे कि उच्च रक्तचाप नीचे आ जाता है।

मेथीदाना

मेथी पाउडर तीन ग्राम मेथी पाउडर सुबह-शाम पानी के साथ लें। इसे पंद्रह दिनों तक लेने से लाभ होता है।

सौंफ और जीरा

सौंफ, जीरा, शक्कर तीनों बराबर मात्रा में लेकर पाउडर बना लें। एक गिलास पानी में एक चम्मच मिश्रण घोलकर सुबह-शाम पीते रहें।

इलायची

इससे ब्लड़प्रेशर भी प्रभावी ढंग से कम होता है। इससे एंटी ऑक्सीडेंट की स्थिति में भी सुधार होता है जबकि इसके सेवन से फाइब्रिनोजेन के स्तर में बिना फेरबदल हुए रक्त के थक्के नहीं बनते हैं।

लाल मिर्च

लाल मिर्च के सेवन से रक्त वाहिकाएं चौड़ी हो जाती हैं जिनसे रक्त आराम से पास हो जाता है और हाई बीपी की समस्या नहीं होती। अपने भोजन में रोजाना लाल मिर्च का सेवन करें।

यह भी पढ़ें – आंखों की रोशनी यूं रखें बरकरार

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams