Selfies

Depression के शिकार लोग अक्सर अधिक सेल्फी लेते हैं

एक इंसान का मौके-बेमौके किसी भी बात पर Selfies लेकर डालना Depression की ओर इशारा करता है, खासकर अगर Selfies अंधेरे में ली गई हो। social media का इस्तेमाल करने वालों पर हुई एक शोध बताती है कि अवसाद के शिकार लोग अक्सर Selfies लेते और उसे social media पर पोस्ट भी करते हैं लेकिन फिल्टर्स का उपयोग नहीं करते हैं। इनकी ज्यादातर तस्वीरें डार्क और अंधेरे में ली गयी होती हैं।

Selfies Depression से जूझते लोगों के लक्षण

शोध में शामिल लगभग 70 प्रतिशत लोग जो Social Media पर दनादन फोटो डालते हैं, वे अवसाद यानि Depression से जूझते पाए गए। वक्त रहते अवसाद के लक्षणों की पहचान काफी मदद कर सकती है। जानें क्या हैं ऐसे लक्षण जो बताते हैं कि इंटरनेट यूजर अवसाद के शुरुआती चरण में है।

ऐसे लोग दिन में लगभग 10 तस्वीरें या इससे अधिक तस्वीरें डाल देते हैं, उनकी ली गयी हर फोटो में अलग-अलग एक्टिविटीज होती हैं।जोकि हर तरह की हो सकती हैं। इसमें सुबह उठने से लेकर तैयार होने, काम पर जाने जैसी कई तस्वीरें होती हैं।

ये तस्वीरें अंधेरे में ली गई होती हैं। या किसी डार्क कार्नर में। इनमें फिल्टर्स का इस्तेमाल कम से कम या नहीं के बराबर होता है। कपड़ों का रंग भी ब्राइट नहीं, बल्कि डार्क नजर आता है। और अपने को अंधेरे में रखना अपने आप में ही एक Depression का लक्षण है।

ऐसी तस्वीरों पर उदासी-भरे कैप्शन दिए गए होते हैं। ये लोग अपनी फोटो पर कमेंट्स का आमतौर पर जल्दी जवाब नहीं देते और जल्द ही दूसरी फोटो डाल देते हैं।

दूसरों की पोस्ट पर ये लोग पैसिव यूजर की तरह व्यवहार करते हैं, यानी देखते तो हैं लेकिन कमेंट या लाइक बहुत कम करते हैं।

ज्यादातर तस्वीरों में ऐसा व्यक्ति अकेला होता है। किसी पार्टी या सामाजिक अवसरों की फोटो ऐसे लोग कम ही पोस्ट करते हैं। खुशी वाले लम्हे भी कम शेयर करते हैं। जबकि अकेलेपन जैसी फ़ोटोज़ ज्यादा डालते हैं

किसी भी तरह की फोटो शेयरिंग साइट पर ही ये लोग ज्यादा नजर आते हैं, और लंबी पोस्ट या ऐसी पोस्ट जिसमें किसी तरह की दिमागी कसरत हो, ये लोग आमतौर पर नहीं करते हैं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams