News Flash

रिकांगपिओ – उपायुक्त किन्नौर डा. नरेश कुमार लट्ठ ने सोमवार को राज्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं पर्यावरण परिषद द्वारा हिमाचल प्रदेश साइंस पॉपुलराइजेशन कार्यक्रम के तहत हैंड्स ऑन साइंस की तीन दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण कार्यशाला का उद्घाटन किया। यह तीन दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण कार्यशाला किन्नौर, चंबा, लाहुल और स्पीति एवं कांगड़ा जिला में होने वाली चार कार्यशालाओं की शृंखला में पहली है, जो कि विज्ञान अध्यापकों और ईको क्लब संचालकों के लिए आयोजित की जा रही है। 27 से 29 मार्च तक जिला शिक्षा और प्रशिक्षण संस्थान डाइट रिकांगपिओ में चलने वाली इस कार्यशाला में वैज्ञानिक अवधारणाओं को उदाहरण सहित टीजीटी/पीजीटी शिक्षकों के समक्ष रखा जाएगा।

उपायुक्त ने बताया कि कार्यशाला का उद्देश्य दूर स्थित विद्यालयों में विज्ञान शिक्षकों को प्रशिक्षित करना है, जहां कोई इंटरनेट और जन मीडिया सुविधा नहीं है। हैंडस ऑन साइंस के माध्यम से विज्ञान के शिक्षक रचनात्मक ढंग से विज्ञान के उन्नत विषय सीखेंगे। उन्होंने कहा की यह कार्यशाला अलग-अलग वैज्ञानिक सिद्धांतों को आसानी से समझने में विज्ञान शिक्षकों की सहायता करेगा और वे अपने छात्रों को इन वैज्ञानिक सिद्धांतो और प्रयोगों को आसानी से सिखाने की स्थिति में होंगे। श्री लट्ठ ने कहा कि वर्तमान कार्यशाला रचनात्मक माध्यम से विज्ञान सीखने के क्षेत्र में एक असंभव मील का पत्थर साबित होगी।

इस अवसर पर जिला किन्नौर के पुलिस अधीक्षक रोहित मालपाणि सम्मानित अतिथि के रूप में उपस्थित थे। एलआर नेगी, प्रधानाचार्य जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान ने मुख्यातिथि का स्वागत व कार्यशाला की विस्तृत जानकारी दी। डा. बीके त्यागी, वैज्ञानिक ई, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग कार्यशाला के मुख्य संसाधन व्यक्ति, रिसोर्स पर्सन थे। वहीं कुणाल सत्यार्थी, आई. एफ.एस, संयुक्त सदस्य सचिव, राज्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं पर्यावरण परिषद, एमएस डोगरा, उपनिदेशक, उच्च शिक्षा भी कार्यशाला के दौरान उपस्थित थे।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams