News Flash
issued notice

नगर परिषद बद्दी ने साईं रोड पर अवैध रूप से लगी रेहड़ी-फड़ी वालों पर की कार्रवाई

  • तुरंत सामान हटाने वरना जब्त करने की दी चेतावनी
  • बद्दी में परेशानी का कारण हैं सड़कों पर सामान सजाने वाले

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। बीबीएन
नगर परिषद बद्दी ने शुक्रवार को साई रोड पर अवैध रूप से लगी रेहड़ी-फड़ी और दुकानों के बाहर सामान सजाने वाले 105 लोगों को नोटिस थमा दिए हैं। उन्हें तुरंत सरकारी भूमि से हटने अन्यथा सामान को जब्त करने की चेतावनी दी गई है। अब देखना यह है कि नप के अधिकारी नोटिस तक ही सीमित रहते हैं या फिर कार्रवाई करके आम आदमी को राहत पहुंचाते हैं।

बता दें कि 5 जनवरी के अंक में हिमाचल दस्तक ने बद्दी शहर में परेशानी का सबब बनी अवैध रेहड़ी-फड़ी के मामले को प्रमुखता से उजागर किया था। हालात यह हो चुके हैं कि शहर में पार्किंग के स्थानों पर भी अवैध रेहडिय़ां स्थापित हो चुकी हैं।

लोगों को बैंक के कार्य के लिए वाहनों की पार्किंग नहीं मिल रही है। ऐसे ही एक मामले में बीते शुक्रवार को एक उद्योग का कर्मचारी बैंक में किसी कार्य से आया और उसने अवैध रेहडिय़ों के बीच में अपनी कार पार्क कर दी और बैंक के भीतर चला गया। इसी बीच कुछ स्थानीय लोगों की कार को बाहर निकलने की जगह नहीं मिली, तभी कंपनी कर्मचारी प्रभाकर जैसे ही बैंक से बाहर आकर कार में बैठने लगा तो दूसरी कार में सवार लोगों ने उसकी धुनाई शुरू कर दी थी।

खबर छपने के बाद प्रशासन ने भी इस समस्या की ओर गंभीरता से विचार करते हुए शुक्रवार को साई रोड पर 105 ऐसे लोगों को नोटिस जारी किए हैं, जिन्होंने या तो सरकारी भूमि पर अवैध रूप से रेहड़ी-फड़ी लगाई हुई हैं या फिर अपनी दुकानों को इतना आगे बढ़ाया हुआ है, जिससे लोगों को पैदल चलने में भी परेशानी हो रही है। इस मार्ग से अवैध रेहड़ी फड़ी हटती है तो लोगों को काफी सुविधा होगी और बैंकों व अन्य कार्यालयों में कुछ देर के लिए जाने वाले लोगों को वाहन पार्क करने की भी सुविधा मिल सकेगी।

नगर परिषद बद्दी के कनिष्ठ अभियंता राकेश कांत शर्मा ने बताया कि 105 लोगों को नोटिस जारी कर दिए गए हैं और उन्हें तुरंत अपना सामान समेटने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि यदि यह लोग सरकारी भूमि को खाली नहीं करते हैं तो उनका सामान जब्त किया जाएगा।

यह भी पढ़ें – जंगल में अज्ञात की चलाई गोली से राहगीर घायल

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]