electricity board employees

अप्रैल की जगह अक्तूबर से दी 25 फीसदी गे्रड पे

  • कर्मचारियों को छह महीने का वित्तीय नुकसान
  • एमडी से मिला कर्मचारी महासंघ, रद की जाए अधिसूचना

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
हिमाचल प्रदेश राज्य बिजली बोर्ड लिमिटेड में अनुबंध पर सेवाएं दे रहे करीब 1500 कर्मचारियों को प्रबंधन ने झटका दिया है। अनुबंध कर्मचारियों को अप्रैल की जगह अक्तूबर से 25 फीसदी ग्रेड पे दी गई है।

इससे अनुबंध कर्मचारियों को छह महीने का वित्तीय नुकसान उठाना पड़ रहा है। इस बारे में बुधवार को अधिसूचना जारी की गई। इस पर राज्य बिजली बोर्ड कर्मचारी महासंघ भड़क गया है। महासंघ ने बिजली बोर्ड के प्रबंध निदेशक से मिलकर इस अधिसूचना को तुरंत प्रभाव से रद कर 1 अप्रैल से ग्रेड पे का लाभ दिए जाने की मांग की है। प्रदेश सरकार ने वर्ष 2017-18 के बजट भाषण में अनुबंध कर्मचारियों को 25 फीसदी गे्रड पे देने की घोषणा की थी।

अन्य विभागों की तर्ज पर 1 अप्रैल से ग्रेड पे का लाभ दिया जाना चाहिए

इसकी अधिसूचना 1 अप्रैल, 2017 को जारी की गई थी। अन्य विभागों ने इन आदेशों को लागू करते हुए अनुबंध कर्मचारियों को गे्रड पे का लाभ दे दिया है, लेकिन बिजली बोर्ड में अनुबंध कर्मचारी पिछले करीब सात महीने ग्रेड पे के इंतजार में थे। प्रदेश सर्व अनुबंध कर्मचारी महासंघ के प्रदेश प्रवक्ता सूरज चौहान और राज्य संयुक्त सचिव पवन कुमार का कहना है कि बिजली बोर्ड सरकार के नियमों को अनुसरण करता है। इसलिए अनुबंध कर्मचारियों को अन्य विभागों की तर्ज पर 1 अप्रैल से ग्रेड पे का लाभ दिया जाना चाहिए।

बिजली बोर्ड प्रबंधन ने अनुबंध कर्मचारियों को अक्तूबर माह से ग्रेड पे दिए जाने की अधिसूचना जारी की है, जोकि नियमानुसार गलत है। प्रबंध निदेशक से मिलकर इस अधिसूचना को तुरंत प्रभाव से रद्द कर अन्य विभागों की तरह 1 अप्रैल से ग्रेड पे का लाभ दिए जाने की मांग की गई है। -हीरालाल वर्मा, महासचिव हिमाचल प्रदेश राज्य बिजली बोर्ड कर्मचारी महासंघ।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams