Panchayat

तृतीय, चतुर्थ श्रेणी के 33 पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
प्रदेश सरकार ने पंचायत सहायकों के कुल 200 पद भरे जाने का निर्णय लिया है। इसमें पंचायतीराज विभाग में अब तक 131 पदों को भरा भी जा चुका है। इसके अलावा पंचायतीराज संस्थानों में तृतीय व चतुर्थ श्रेणियों के 33 पदों को भरने के लिए भी प्रक्रिया शुरू की गई है। विभाग में खाली पड़े पंचायत सहायकों के 400 पदों को सरकार पहले ही भरा जा चुका है। पंचायतीराज विभाग महिला सशक्तिकरण पर भी विशेष बल दे रहा है।

इसके लिए पंचायतीराज संस्थानों में महिलाओं को चुनाव लडऩे के लिए 50 फीसदी आरक्षण दिया गया है, जबकि देश के अन्य राज्य में अभी पंचायतीराज संस्थाओं में महिलाओं के लिए 33 फीसदी आरक्षण देने पर विचार-विमर्श हो रहा है। इसी तरह से ग्रामीण क्षेत्रों में विकास कार्य प्रभावित न हो, इसके लिए भी सरकार ने ग्राम सभाओं का कोरम एक तिहाई से घटाकर 1 चौथाई कर दिया है। यह निर्णय प्रदेश भर की ग्राम सभाओं में कोरम पूरा न होने से आ रही परेशानियों को दूर करने के लिए लिया गया है।

सात सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन शुरू

केंद्र सरकार की ई पंचायत परियोजना के तहत 11 प्रस्तावित सॉफ्टेवर एप्लीकेशन में से पंचायतीराज संस्थानों में 7 सॉफ्टवेयर आरंभ कर दिए हैं। इन एप्लीकेशनों के लिए पंचायतों विभागों के अधिकारियों के प्रशिक्षण का आयोजन पंचायती राज संस्थान मशोबरा में किया जा रहा है। पंचायतों को आवारा पशुओं से मुक्त करने के लिए हर खंड में दो श्रेष्ठ पंचायतों को पुरस्कृत करने की योजना की अधिसूचना की गई है।

इसमें श्रेष्ठ ग्राम पंचायतों को पुरस्कार राशि के लिए 7.80 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं के सशक्तिकरण विशेषकर महिलाओं व बच्चों से जुड़े मुद्दों व पंचायतों के समग्र विकास से संबंधित मामलों पर चर्चा करने के लिए निर्णय लिया गया है। इसके तहत प्रदेश में अब तक दो महिला ग्राम सभाएं आयोजित भी की जा चुकी हैं।

महिला ग्राम सभा की बैठकें 8 मार्च और सितंबर के पहले रविवार को की जाती हैं। प्रदेश सरकार ने पंचायतीराज संस्थानों के जन प्रतिनिधियों का मानदेय भी जुलाई 2017 से बढ़ाया है। इसी तरह से पंचायत सहायकों सहित सिलाई शिक्षक का मानदेय बढ़ाया गया है। विभाग में दो सहायक इंजीनियरों, 172 जूनियर इंजीनियरों, 12 जूनियर स्केल स्टेनोग्राफार, 1297 पंचायत सचिवों व 10 जूनियर अकाउंटेट को नियमित किया गया है।

लोगों की सुविधा के लिए पंचायतीराज संस्थाओं में 200 पंचायत सहायकों के पद भरे जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के पदों को भरने के लिए भी प्रक्रिया शुरू की गई है। -अनिल शर्मा, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग मंत्री

Ram Rahim is sex addict, डॉक्टर का दावा

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams