News Flash
Accidents change preventing method of road construction

कुल्लू से लौटते ही मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शिमला में ली बैठक, बोले, मिशन मोड में सुधारे जाएंगे सड़कों के ब्लैक स्पॉट , अब सड़क सुरक्षा ऑडिटर की स्वीकृति से होगा निर्माण

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : बंजार बस हादसे के घायलों से कुल्लू अस्पताल में मिलकर शिमला लौटे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सड़क दुर्घटनाओं पर सचिवालय में उच्च स्तरीय बैठक की। उन्होंने कहा कि सड़क हादसों को कम करने के लिए सड़कों पर ब्लैक स्पॉट्स की पहचान की जाएगी और उनके सुधार के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा।

राज्य में नई सड़कों का निर्माण सड़क सुरक्षा ऑडिटर की स्वीकृति के बाद ही किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि भविष्य में किसी भी अप्रिय घटना को रोकने एवं ब्लैक स्पॉट्स की पहचान करने के लिए पुरानी प्रक्रिया के स्थान पर नई प्रक्रिया को अपनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों को दोषी चालकों के विरूद्ध शिकायतें दर्ज करवाने के लिए उत्साहित किया जाएगा। राज्य में 93 प्रतिशत सड़क दुर्घटनाएं मानव भूल के कारण हो रही हैं और इन्हें रोकने के लिए ड्राइविंग टैस्ट को अधिक सख्त बनाया जाएगा।

वाहनों की स्थिति के आकलन के लिए ऑटोमैटिक जांच के माध्यम से किया जाएगा तथा बेहतर स्थिति वाले वाहनों को ही सड़क पर चलने की अनुमति दी जाएगी। भारी वाहनों के चालकों को सही टैस्ट के आधार पर ही लाइसेंस दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि प्रशिक्षु ड्राइवर निश्चित समय के लिए प्रशिक्षण पाएं, इसके लिए ड्राइविंग स्कूलों में बायोमीट्रिक प्रणाली को अपनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में ऑटोमैटिक ड्राइविंग टेस्ट सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए सरकार हर संभव प्रयास करेगी।

हादसे वाले बस ऑपरेटर का परमिट कैंसल

सरकार ने बंजार हादसे का शिकार हुए बस का रूट परमिट कैंसल कर दिया है। इसका आधार पर ओवलोडिंग और लापरवाह ड्राइविंग को बनाया है। सीएम ने कहा कि प्रशासन को सुनिश्चित करना होगा कि किसी भी परिवहन वाहन में ओवर लोडिंग न हो। इसका उल्लंघन करने वालों के प्रति सख्त कार्रवाई की जाएगी। यात्रियों की सुरक्षा के संबंध में स्कूल प्रशासन को जागरूक किया जाएगा।

बसों-टैक्सियों में लगाने होंगे ड्राइवर के फोटो

सीएम ने कहा कि यात्रियों को चालक के संंबंध में जानकारी देने तथा उन्हें चालक के प्रशिक्षित होने के संबंध में आश्वस्त करने के लिए सभी परिवहन वाहनों, टैक्सियों पर चालक के नाम एवं फोटो को प्रदर्शित करना होगा। सभी आरटीओ अपने अपने क्षेत्राधिकार में इस व्यवस्था को लागू करेंगे। परिवहन वाहनों की स्थिति पर विशेष ध्यान दिया जाएगा तथा इसमें किसी भी कोताही को सहन नहीं किया जाएगा।

 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams