Action on officer

कमेटी के अधिकारी पर विजिलेंस की नजर

दशहरा उत्सव में चहेतों को मौका देने पर सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने लिया कड़ा संज्ञान

हिमाचल दस्तक। कुल्लू 

अंतरराष्ट्रीय दशहरा पर्व में दशहरा कमेटी के साथ सांठ-गांठ कर धांधली करने वाले सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी पर तुरंत कार्रवाई होगी। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने इस पर कड़ा संज्ञान लिया है। उधर, दशहरा कमेटी के जिस अधिकारी ने उक्त अधिकारी के साथ सांठ-गांठ की है, उस पर विजिलेंस विभाग की पैनी नजर पड़ गई है। मामले के उजागर होने के बाद सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के निदेशक दिनेश मल्होत्रा ने बताया है कि उक्त अधिकारी पर फौरी एक्शन होगा।

उन्होंने कहा कि इस तरह की धांधली किसी भी तरह से बर्दाशत नहीं किया जाएगी। इसके बाद कथित सांठ-गांठ कर्ताओं में हड़कंप मच गया है। गौर रहे कि दशहरा कमेटी पर आरोप लगा है कि उन्होंने अपने एक रिश्तेदार से सांठ-गांठ करके जो सूचना एवं जनसंपर्क विभाग में अधिकारी हैं को दशहरा पर्व की सांस्कृतिक संध्याएं बेच डाली थी। कलाकारों के यह आरोप है कि सूचना एवं जनसंपर्क विभाग में कार्यरत एक अधिकारी हिमाचल के हर मेलों में इस तरह से स्थानीय कलाकारों के कार्यक्रमों व मंच को हाईजैक कर लेता है और उसके बाद उक्त अधिकारी भी अपने-अपने चहेते कलाकार को मंच पर कार्यक्रम देने बुलाता है जो उसे कमीशन देता है।

हिमाचली कलाकारों का शोषण शुरू हुआ और चहेते कलाकारों को मंच प्रदान करवाया गया

आरोप यह भी है कि कलाकारों को मिलने वाले धन में से 20-30 प्रतिशत उक्त अधिकारी लेता है। यही नहीं उक्त अधिकारी पर कलाकार पहले मंडी में मामला भी दर्ज कर चुके हैं। बावजूद इसके दशहरा कमेटी ने उक्त अधिकारी को शिमला से छुट्टी करके बुलाया और सांस्कृतिक संध्याएं उसके हवाले कर डाली और फिर हिमाचली कलाकारों का शोषण शुरू हुआ और चहेते कलाकारों को मंच प्रदान करवाया गया।  हैरानी इस बात की भी है कि कलाकारों ने इसकी शिकायत दशहरा कमेटी के अध्यक्ष को उत्सव के दौरान ही दी थी लेकिन उस वक्त इस मामले पर गौर फरमाया होता तो यह नौबत न आती।

पहले भी सामने आते रहे हैं मामले

हिमाचल के मेलों में पहले भी इस तरह के मामले सामने आए थे और सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने बकायदा दशहरा कमेटी को पत्र लिखकर अवगत करवाया गया था कि उक्त अधिकारी को इस तरह का काम व मंच प्रदान न करवाया जाए, लेकिन विभाग के इस पत्र को भी दशहरा कमेटी ने नजर अंदाज कर डाला और जनसंपर्क विभाग के अधिकारी को कलाकारों के चयन के लिए बुलाया। इस प्रकरण के बाद दशहरा कमेटी पर कई सवाल उठ खड़े हुए हैं और धीर-धीरे सारी धांधलियां बाहर आना शुरू हो गई हैैं।

लोक गायकों ने की मीडिया की प्रशंसा

प्रदेश के लोक गायक कलाकारों  ने मामला उजागर होने के बाद मीडिया की प्रशंसा की है और अब अन्य कलाकार भी खुलकर बोलने के लिए सामने आने लगे हैैं।

यह अधिकारी कलाकारों का शोषण कर रहा था और दशहरा कमेटी ने किस काबिलियत के आधार पर उक्त अधिकारी को कलाकारों के चयन का ठेका दिया। -लीलाधर चौहान, हिमाचली लोक गायक

उक्त अधिकारी के खिलाफ  मामला सामने आया है और विभाग तुरंत एक्शन ले रहा है। -दिनेश मल्होत्रा, निदेशक, सूचना एवं जनसंपर्क

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams