News Flash
regional hospital services

घंटों इलाज न मिलने के बाद विधायक रायजादा ने निजी हास्पिटल में करवाया भर्ती

एमएस का किया घेराव बदहाली पर प्रदर्शन की चेतावनी

चंद्रमोहन चौहान। ऊना
भले ही प्रदेश सरकार गर्भवती महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने की दुहाई देती हो, लेकिन धरातल पर सच्चाई कड़वी है। गर्भवती महिलाओं को भी कई बार सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिए धक्के खाने पड़ रहे हैं। इसका उदाहरण वीरवार को क्षेत्रीय अस्पताल में देखने को मिला, जहां ऊना शहर की एक गर्भवती महिला के लिए क्षेत्रीय अस्पताल की स्वास्थ्य सेवाएं आफत बनकर आईं। इतना विधायक रायजादा के अस्पताल पहुंचने के बावजूद अस्पताल प्रशासन के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी।

महिला की तबीयत खराब होती देख विधायक ने महिला को निजी अस्पताल भर्ती करवाया, जहां महिला ने बेटी को जन्म दिया। अस्पताल की बदहाली पर गुस्साएं विधायक ने डीसी कार्यालय पहुंच एक शिकायत पत्र भी दिया और जिला प्रशासन को चेताया कि अगर क्षेत्रीय अस्पताल की व्यवस्था न सुधरी तो लोहड़ी के बाद अस्पताल में रोष प्रदर्शन किया जाएगा। बता दें कि वीरवार सुबह प्रसव से पीडि़त बैहल्ली मोहल्ला की शिवानी क्षेत्रीय अस्पताल पहुंची।

जहां पर डॉक्टरों के न मिलने पर घंटों देर तक अस्पताल के अनेेक वार्डों में इधर-उधर भटकना पड़ा। जब अस्पताल में पीडि़त महिला व उसके परिजनों के एक न सुनी गई, तो परेशानी की हालत में परिजनों ने सदर के विधायक सतपाल रायजादा से संपर्क किया। विधायक रायजादा पीडि़त की पुकार पर कुछ मिनटों में ही अस्पताल पहुुंच गए।

विधायक रायजादा ने गर्भवती महिला को अस्पताल में इलाज दिलाने का विश्वास दिलाया, लेकिन अस्पताल में विधायक रायजादा को भी अस्पताल प्रशासन की अनदेखी का ही शिकार होना पड़ा।

जिसके चलते विधायक ने करीब एक घंटे तक इस मामले को लेकर अस्पताल के एमएस बीबी कटोच के कमरे में धावा बोला। एमएस कटोच को विधायक रायजादा ने गर्भवती महिला को इलाज न मिलने की बात बताई। लेकिन एसएस बार-बार डॉक्टर के आपरेशन थियेटर में होने की बात कहते रहे, उधर गर्भवती महिला की तबीयत खराब होती देख विधायक रायजादा ने तुंरत महिला को निजी अस्पताल भेजने का निर्णय लिया। साथ ही विधायक ने परिजनों को आर्थिक सहायता भी प्रदान की, ताकि इलाज में कोई दिक्कत न आएं।

महिला के परिजनों से बातकर महिला को विधायक रायजादा ने ऊना के स्त्री रोग विशेषज्ञ निजी अस्पताल में भेजा। जहां डॉक्टर ने सफल आप्रेशन किया। गर्भवती महिला शिवानी ने बेटी को जन्म दिया। निजी अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि शिवानी ने 4.200 किलोग्राम वजन की बेटी को जन्म दिया है और आपरेशन के बाद जच्चा व बच्चा दोनों स्वस्थ है।

फेल है स्वास्थ्य सिस्टम : रायजादा

विधायक सतपाल सिंह रायजादा ने कहा कि जयराम ठाकुर की सरकार में विफल स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार बन गए हैं। जिनके नेतृत्व में स्वास्थ्य सेवाएं लगातार निचले स्तर पर जा रही हैं और स्वयं मुझे कई बार ऊना अस्पताल में इस अव्यवस्था का सामना करना पड़ा है। जहां तक कि प्रदेश के एक मंत्री माफी मांग रहे हैं कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि इस विफल सिस्टम के खिलाफ प्रदर्शन करना पड़ा, तो पीछे नहीं हटूंगा।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams