News Flash
Anil Jaswal Una

अनिल आतंकी मुठभेड़ में हुए शहीदी को प्राप्त

राम सिंह। लठियाणी, अजय शर्मा। बंगाणा

उपमंडल बंगाणा के सरोह गांव के 27 वर्षीय सैनिक अनिल जसवाल आतंकवादियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए। बता दें कि अनिल का जन्म 16 जून 1994 को अशोक कुमार के घर हुआ था। अनिल जसवाल 6 वर्ष पहले 13 जैक राइफल के 3 आरआर में भर्ती हुए थे, जो वर्तमान में जम्मू में कार्यरत थे।

अनिल सोम-मंगल की रात आतंकवादियों से मुठभेड़ में घायल हो गए थे। अस्पताल में उपचार के दौरान अनिल जसवाल ने शहीदी प्राप्त की। अनिल जसवाल अपने पीछे अपनी माता-पिता, पत्नी और 6 माह का बेटा छोड़ गए हैं। शहीद अनिल का शव 19 जून को उसके पैतृक गांव ननावीं पहुंचने की संभावना है, जहां पर उनका विधिवत अंतिम संस्कार किया जाएगा।

अनिल जसवाल के पिता अशोक कुमार सैनिक रिटायर्ड है, जबकि माता अनीता गृहिणी है। जबकि अनिल की एक बहन भी है जिसकी शादी हो चुकी है। अनिल की शादी करीब 2 वर्ष पहले श्वेता से हुई थी। शादी के 2 वर्ष बाद अनिल के घर एक बेटे ने जन्म लिया जो करीब 6 माह का है। शहादत की सूचना मिलते ही पूरे जिला में शोक की लहर दौड़ गई। अनिल के शहीद होने के खबर उसके घर में सिर्फ उसके पिता को मालूम है। शहीद की मां व पत्नी को इसके बारे कोई पता नहीं है। पूरे गांव में मातम का माहौल है।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams