News Flash
rohtang tunnel

प्रदेश सरकार ने केंद्र से किया विशेष अनुमति का आग्रह

स्पीति को पशु चारा भेजने पर सौ फीसदी ट्रांसपोर्ट सब्सिडी

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
इस बार मौसम के मिजाज को देखते हुए प्रदेश सरकार जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति के लिए राहत देने जा रही है। बर्फबारी और यहां की स्थिति को देखते हुए रोहतांग टनल से पशु चारा लाहौल-स्पीति पहुंचेगा। हालांकि अभी रोहतांग टनल तैयार होने में एक साल से अधिक का समय लग सकता है, लेकिन प्रदेश सरकार ने पशु चारा की सप्लाई टनल से करने का निर्णय लिया है। इस मसले पर प्रदेश सरकार ने केंद्र से अनुमति मांगी है।

सोमवार को मीडिया से अनौपचारिक बातचीत के दौरान जनजातीय विकास मंत्री डॉ. रामलाल मार्कंडेय ने कहा कि घाटी के लिए इस बार पशु चारा रोहतांग टनल से जाएगा। हाल ही में हुई बर्फबारी को देखते हुए सरकार ने इस जिले के लोगों को बीपीएल रेट पर राशन देने का निर्णय लिया है। हालांकि यह राशन लाहौल की 28 और स्पीति की 6 पंचायतों को दिया जाना है, लेकिन अब सरकार ने सिर्फ लाहौल की 28 पंचायतों को ही देने का निर्णय लिया है।

सरकार सिर्फ पशु चारा के लिए 100 फीसदी ट्रांसपोर्ट सब्सिडी देगी। बताया गया कि सितंबर महीने में हुई बर्फबारी के दौरान जिले में 97 करोड़ का नुकसान हुआ था। इसकी रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेज दी है और राहत राशि जारी करने की भी मांग की है।

मौसम को देखते हुए इस बार लाहौल-स्पीति में पशु चारा रोहतांग टनल से भेजा जाएगा। इस मसले पर केंद्र सरकार से भी अनुमित मांगी है। लाहौल-स्पीति में सितंबर महीने में हुई बर्फबारी के दौरान करोड़ों का नुकसान हुआ है। -डॉ. रामलाल मार्कंडेय, जनजातीय विकास मंत्री

यह भी पढ़ें – हिमाचल प्रीमियम क्रिकेट लीग 15 दिसंबर से – गोबिंद

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams