News Flash
Auctions for vegetable market making private shop

सुलिंद्र सिंह चोपड़ा। संतोषगढ़ :सुर्खियों में रहने वाले नगर परिषद संतोषगढ़ की सब्जी मंडी फिर चर्चाओं में है। किसानों के लिए खोली गई सब्जी मंडी के नीलामी मंच पर पिछले लंबे समय से प्राईवेट दुकानदारी चल रही है।

नीलामी मंच पर प्राईवेट दुकानदारी चलने के कारण दुकानदारों को घाटा पड़ रहा है। ऐसा नहीं है कि मामले की जानकारी सब्जी मंडी के अधिकारियों को नहीं है। अक्तूबर 2018 में मामले की शिकायत भी मिली थी। तब मंडी के सचिव ने दो से तीन सप्ताह के भीतर नीलामी मंच खाली करवा दिया जाएगा, लेकिन पांच माह बीत जाने के बाद भी प्राईवेट दुकानदारी चली हुई है। संतोषगढ़ के स्थानीय लोगों का कहना है कि यह एक नीलामी मंच है, लेकिन इस मंच पर दुकानदारी चलाई जा रही है। जिससे स्थानीय दुकानदारों को घाटा पड़ रहा है।
जिन लोगों ने सब्जी मंडी बोर्ड से नीलामी के लिए दुकानें ली हुई है, उन्होंने निलामी मंच पर अपनी प्राईवेट दुकानदारी चलाई हुई है। कुछ दुकानदारों नें नीलामी मंच चर दुकान करने के लिए और लोगों को मंच दे रखा है। ऐसे में सब्जी मंडी बोर्ड की ओर से संतोषगढ़ में बनाए गए नीलामी मंच का दुरूपयोग हो रहा है। किसानों कहना है कि यह जो नीलामी मंच बनाया हुआ है वह किसानों को अपनी सब्जी रखने के लिए बनाया हुआ है न कि वहां पर बैठे हुए आढ़तियों को दुकानदारी करने के लिए है। ऐसे में नीलामी मंच से प्राईवेट दुकानदारी को तुंरत करवाई जाए।

क्या कहते है सचिव

कृषि उपज समिति ऊना के सचिव सर्वजीत सिंह डोगरा का कहना है कि निलामी मंच पर जो लोग दुकानदारी कर रहे है। हमने उनको कई बार दुकानदारी हटाने को कहा, लेकिन वह पुन: मंच पर बैठ जाते है, जो बहुत गलत है। उन्होंने कहा कि इसको लेकर उचित कदम उठाए जाएंगे।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams