Baba Bal Bharti

विधि विधान से चुने गए नए मंहत

शंभू भारती के समाधि लेने के बाद संभाला कार्यभार

हिमाचल दस्तक । नेरचौक
नागचला शिव मंदिर के विख्यात बाबा शंभू भारती के समाधि लेने के पश्चात सोमवार षोडशी के दिन तपो निधि पंचायती आनंद अखाड़ाव हिमाचल के बाबा समाज व नागचला शिव मंदिर कमेटी ने सर्वसम्मति से बाबा बाल भारती को नाग चला शिव मंदिर का नया महंत चुना है। षोडशी के दिन सैंकड़ों बाबा सुबह से ही नाग चला शिव मंदिर में पहुंच गए । समाधि लीन बाबा शंभू भारती के समाधि पर हवन पाठ किया गया तथा नए मंहत बाबा बाल भारती को नई चदर रस्म उठाकर नाग चला शिव मंदिर का महंत चुना गया ।

इस प्रक्रिया में सैंकड़ों बाबा तथा शिव मंदिर कमेटी के लोगों ने इसमें हिस्सा लिया। बाबा बाल भारती 7 बरस की उम्र से बाबा बन गए थे। उन्होंने अपना बचपन हिमाचल में ही गुजारा था तथा इसके पश्चात वह पंजाब ,बरेली ,मध्यप्रदेश ,गुजरात के अखाड़ों में जीवन व्यतीत करते रहे । आजकल बाबा बाल भारती मध्य प्रदेश के विज शान माता मंदिर विदिशा मध्य प्रदेश के महंत है । वह बाबा की समाधि पर नागचला पहुंचे हुए थे ।

नागचला शिव मंदिर के बाबा बाबा शंभू भारती ने पहले भी अपने भक्तों से इच्छा जताई थी तथा बाबा बाल भारती को मंदिर संभालने के लिए कहा था , लेकिन किंही कारणों से बाबा बाल भारती मंदिर नहीं संभाल पाए थे। अब शंभू भारती के समाधिस्थ होने के कारण उनकी जगह गद्दीनशीं होना पड़ा।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams