News Flash
Bedi's representation in Satyagraha's Maha Panchayat

व्यंग्य के मानक और संप्रेषणीयता की चुनौती विषय पर हुई चर्चा 

राजीव भनोट, ऊना।  हिमाचल प्रदेश के जाने-माने व्यंग्यकार गुरमीत बेदी ने नई दिल्ली के हिंदी भवन में आयोजित देश में अपनी तरह की अनूठी व्यंग्य की महापंचायत में हिमाचल, पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ का प्रतिनिधित्व किया। इस महापंचायत में विभिन्न राज्यों से आए देश के शीर्षस्थ व्यंग्यकारों ने हिस्सा लिया। अध्यक्षता सुपरिचित व्यंग्य हस्ताक्षर व समीक्षक सुभाष चंद्र ने की।

महापंचायत में व्यंग्य के मानक और संप्रेषणीयता की चुनौती विषय पर विस्तार से चर्चा हुई और गुरमीत बेदी सहित कई व्यंग्यकारों ने अपने विचार रखे। व्यंग्य के अलावा गुरमीत बेदी के दो कहानी संग्रह, दो कविता संग्रह, तीन उपन्यास व एक शोध पुस्तक भी प्रकाशित हो चुकी है और उन्हें हिमाचल साहित्य अकादमी अवार्ड सहित देश विदेश के कई प्रतिष्ठित पुरस्कार भी मिले हैं। उनके कविता संग्रह मेरी ही कोई आकृति का जर्मनी में भी अनुवाद हो चुका है, जबकि मारीशस व जर्मनी में आयोजित वल्र्ड पोयट्री फेस्टिवल में भी गुरमीत बेदी हिस्सा लेकर हिमाचल प्रदेश को गौरवांवित कर चुके हैं।
गुरमीत बेदी हिमाचल प्रदेश सूचना एवं जनसंपर्क विभाग में डिप्टी डायरेक्टर के पद पर कार्यरत हैं और उनकी ज्योतिष साइंस पर एक शोध पुस्तक भी अगले महीने आ रही है। देश के जाने-माने व्यंग्यकारों अरविंद तिवारी, राजेंद्र वर्मा, अनूप श्रीवास्तव, आलोक पुराणिक, निर्मल गुप्त, गिरीश पंकज, श्रवण कुमार उर्मलिा, महेंद्र ठाकुर, रामकिशोर उपाध्याय, स्नेहलता पाठक, वीना सिंह, शशि पांडेय, राज शेखर चौबे, आलोक खरे, संतराम पांडेय, शिल्पा श्रीवास्तव व अरुण अर्णव खरे सहित  कई वरिष्ठ व नए व्यंग्यकारों ने शिरकत की।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams