जेजवीं व भडोलियां में बंद हुई सड़के , सनौर में गिरी गौशाला  , किसानों ने की उचित मुआवजे की मांग

टीम , दस्तक । बिलासपुर : बिलासपुर में मानसून की पहली बरसात ने जिले के विभिन्न स्थानों पर लोगों का जीना बेहाल कर दिया है। मानसून की पहली बारिश से जहां ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों की मक्की व तिलहनी फसलों को नुकसान पहुंचा है।

लोगों की फसल कई स्थानों पर खेत ों में मिटटी के आने से दब गई हैं। वहीं इससे लोक निर्माण विभाग की सड़कों को भी भारी बारिश से नुकसान पहुंचा है। जिसके चलते एनएच शिमला मटौर के किनारे जगह जगह खड़ा पानी देखा जा सकता है। जिससे सड़क के किनारे चलने वाले राहगीरों को परेशान होना पड़ा। वहीं विशेषकर मंगलवार सुबह भारी बारिश के कारण शाहतलाई क्षेत्र के भडोलीकलां, जेजवी में कुछ घंटों के लिए सड़क पर मलबा गिरने से बंद हो गया था। जिससे लोगों को परेशान होना पड़ा।

हालांकि बाद में लोक निर्माण विभाग के अधिकारी व कर्मचारी वहां पर दल बल सहित पहुंचे तथा कड़ी मशक्त करने के बाद सड़क से मलबा हटाया। तथा सड़क को चालू किया। उधर, श्री नयना देवी व सदर बिलासपुर उपमंडल में यातायात सुविधा सुचारू रूप से चलती रही। उधर , कंदरौर के सनौर गांव में सुनारू देवी की गौशाला सोमवार देर रात भारी बारिश से गिर गई। जिससे लगभग 50 हजार का नुकसान हुआ है। स्थानीय लोगों ने जिला प्रशासन से इस परिवार को उचित आर्थिक सहायता प्रदान करने की मांग की है। उधर, अभी तक आईपीएच व बिजली बोर्ड की संपत्ति को कोई नुकसान नहीं पहुचा है।

तबाह फसल का मुआवजा दे सरकार : कष्ण लाल ठाकुर

ग्राम पंचायत चांदपुर के पूर्व प्रधान व किसान नेता कृष्ण लाल ठाकुर का कहना है कि पहले आंधी तूफान ने किसानों की आम की फसल को तबाह किया। तथा अब रही  सही कसर मानसून की पहली बरसात ने पूरी कर दी है। किसानों को अभी तक आम की तबाह फसल का मुआवजा नहीं मिल पाया है। सरकार को चाहिए कि इस तरह के मामलों को निपटाने के लिए अलग से ठोस नीति बनाने की मांग की है जिससे किसानों को समय रहते राहत मिल सके।

टीम , दस्तक । बिलासपुर

 

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams