News Flash
Increasing the capacity of cattle in cowshed and churning on cow celestial construction: Virendra Kanwar

बेसहारा पशुओं को आश्रय देने के लिए सभी वर्गों के सहयोग की नितांत आवश्यकता

हिमाचल दस्तक। श्री नयना देवी : प्रदेश में बेसहारा पशुओं की समस्या अत्यंत गंभीर है इसके निवारण के लिए सभी वर्गो के सहयोग की नितांत आवश्यकता है। वर्तमान में चल गौशालाओं में क्षमता को बढ़ाने के संभावनाओं तलाशने के अतिरिक्त नए गौशालाएं व काऊ सैंचुरी बनाने के लिए भूमि चयन की प्रक्रियाओं में तेजी लाई जानी आवश्यक है।

यह बात ग्रामीण विकास पंचायती राजए पशुपालन एवं मत्स्य मंत्री वीरेन्द्र कंवर ने श्री नयना देवी के मातृ आंचल के सभागार में अधिकारियों के साथ जिला की विभिन्न विकासात्मक गतिविधियों के बारे में चर्चा करते हुए प्रकट किए। उन्होंने कहा कि वर्तमान में चलाई जा रही गौशालाओं में अतिरिक्त 50 से 100 पशुओं को रखने की क्षमता की संभावना को बनाने के लिए शैड व फैंसिग की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि इन गौशालाओं और काऊ सैंचुरी में पीने के पानी के लिए वन सरोबरोंए चैकडैमो और आश्रय के लिए साधारण शैड निर्माण की दिशा में कार्य करने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे।

उन्होंने संबंधि विभागों के अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए कहा कि गौशालाओं में पेयजल और विद्युत व्यवस्था की आवश्यक सुविधाएं तथा सर्वे करवाकर चैकडैम व वनसरोबर बनाने के लिए उपयुक्त कार्यवाही अमल में लाएं। उन्होंने कहा कि जिला की शुष्क भौगोलिक स्थिति के चलते चैकडैम व वनसरोवर जलस्तर को बढाने व पशुओं को पीने के लिए जल की उपलब्धता में कारगर सिद्ध होंगे। उन्होंने कहा कि युवाओं के लिए अधिक से अधिक स्वरोजगार के साधन उपलब्ध करवाने के लिए कृषि, बागवानी, मत्स्य, पशुपालन व सेरी कल्चर विभाग अपनी अहम भूमिका का निर्वहन कर सकते हैं।

उन्होंने संबंधित विभागों को ज्यादा से ज्यादा सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए ग्रामीण स्तर तक प्रचार.प्रसार करने के निर्देश दिए ताकि इन योजनाओं के बारे जागरूक होकर युवा व बेरोजगार स्वरोजगार की ओर अग्रसर हो सकें तथा हर पात्र व्यक्ति इन योजनाओं से लाभान्वित हो सकें। बैठक में उपायुक्त सहित अन्य प्रमुख विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

पंकज गौत

 

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams