bindal assembly speaker

सर्वप्रथम CM ने रखा प्रस्ताव, मिला समर्थन

प्रोटेम स्पीकर रमेश धवाला ने की घोषणा

संजय अग्रवाल। धर्मशाला
शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन नाहन के विधायक डॉ. राजीव बिंदल को सर्वसम्मति से 13वीं विधानसभा का अध्यक्ष चुना गया। बिंदल ने विस अध्यक्ष पद के लिए मंगलवार को नामांकन पत्र दाखिल किया था। विपक्ष ने अपने किसी भी उम्मीदवार को नहीं उतारा। सदन में कार्यवाही के उपरांत प्रोटेम स्पीकर रमेश धवाला ने डॉ. राजीव बिंदल के विधानसभा अध्यक्ष निर्वाचित होने की घोषणा की। बिंदल को अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर सर्वप्रथम मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सबसे पहले प्रस्ताव पेश किया।

इसका संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने समर्थन किया। दूसरा प्रस्ताव कांग्रेस विधायक दल के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने किया, जिसका पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने समर्थन किया। तीसरा प्रस्ताव सिंचाई मंत्री महेंद्र सिंह ने रखा, जिसे खाद्य व नागरिक आपूर्ति मंत्री किशन कपूर ने समर्थन दिया। चौथा प्रस्ताव स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने पेश किया, जिसका समर्थन सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने किया।

सदन में पक्ष और विपक्ष की सर्वसम्मति से डॉ. राजीव बिंदल को विस अध्यक्ष चुना गया। बिंदल के विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठने के बाद प्रोटेम स्पीकर अपनी सीट पर चले गए। वहीं, डॉ. राजीव बिंदल ने उन्हें सर्वसम्मति से विस अध्यक्ष चुने जाने के बाद पक्ष-विपक्ष का धन्यवाद किया।

नए रक्त का संचार हुआ – बिंदल

डॉ. राजीव बिंदल ने कहा कि आज विधानसभा में नजारा बदला सा नजर आ रहा है। ऐसे कई वरिष्ठ नेता हैं जो आज सदन में मौजूद नहीं हैं। विधानसभा में नए रक्त का संचार हुआ है। युवा सदस्य चुनकर सामने आए हैं। सदन नियमों से चलता है और नियमानुसार सदस्य और खासकर विपक्ष के सदस्य जो मुद्दे उठाएंगे, उन्हें पूरा मौका मिलेगा। बिंदल ने अटल बिहारी वाजपेयी और स्वामी विवेकानंद को याद करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद ने कहा है कि पीछे नहीं देखना है आगे बढऩा है। उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी की कुछ पंक्तियां भी दोहराई।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams