bjp shanta kumar

पूर्व सीएम बताएं कि कांग्रेस को किस नाम से पुकारूं

हिमाचल दस्तक। पालमपुर
पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और शांता कुमार के बीच छिड़ी शब्द बाणों की जंग पर शांता कुमार ने जहां अपना बचाव किया है, वहीं पूर्व सीएम पर यह बता कर हमला भी किया है कि कांग्रेस के लोग यदि आपस में छींटाकशी करते हैं, तो उनके शब्द कांग्रेस को क्यों चुभे। शांता कुमार ने पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह से मीडिया में जारी एक बयान में कहा कि यदि वीरभद्र सिंह को उनकी पार्टी को सर्कस कहना बुरा लगा है, तो वह अपने शब्दों को वापस लेते हैं।

शांता ने कहा कि वे इस पर खेद भी जताना चाहेंगे। भाजपा द्वारा कांग्रेस को सर्कस कहने को लेकर प्रदेश के दोनों पूर्व मुख्यमंत्री आमने-सामने हैं। भाजपा शीर्ष नेता शांता कुमार ने अभी हाल में ही में कांग्रेस को सर्कस पार्टी करार दिया था, जिसको लेकर वीरभद्र सिंह आहत नजर आए। कांग्रेस सूत्र बताते हैं कि इसको लेकर वीरभद्र सिंह ने शांता कुमार से अपनी नाराजगी जाहिर की है।

पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने भी पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की भावनाओं की कद्र करते जहां अपने शब्दों पर खेद व्यक्त किया है और अपने शब्द वापस लिए हैं।

वहीं शांता कुमार ने यह भी कहा कि कांग्रेस की यह अपनी पुरानी परंपरा रही है, जहां कांग्रेस के लोग अपने ही पार्टी के लोगों पर छींटाकशी करते आए हैं। उन्होंने साथ ही वीरभद्र सिंह से यह भी पूछा है कि वीरभद्र सिंह 6 बार मुख्यमंत्री रहे, इस दौरान उनको कांग्रेस के कद्दावर नेता सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने मंच पर बहुत कुछ कहा।

इसके अलावा शांता कुमार ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को याद दिलाई कि धनीराम शांडिल को उन्होंने पुराना पापी भी कहा था। शांता कुमार ने अपने बयान में तीसरी बात यह कही है कि वीरभद्र सिंह कहते हैं कि उनकी सुखराम से कोई दुश्मनी, नहीं लेकिन उनको आया राम गया राम स्वीकार नहीं। फिर वीरभद्र सिंह पार्टी को उनका सर्कस कहना क्यों बुरा लग रहा है। उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह स्वयं बताएं कि वह उनकी पार्टी को किस नाम से पुकारें।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams