News Flash
Rohtang tunnel

चीफ इंजीनियर NM चंद्र राणा ने की आधिकारिक पुष्टि

टनल के दोनों छोर जुडऩे से लाहुल वासियों में दौड़ी खुशी की लहर

हिमाचल दस्तक। मनाली
सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण रोहतांग टनल के दोनों छोर जुड़ गए है। इस वर्ष रोहतांग टनल का कार्य युद्धस्तर पर किया जाएगा। रोहतांग टनल के चीफ इंजीनियर एनएम चंद्र राणा ने टनल के दोनों छोर मिलने की आधिकारिक पुष्टि कर दी है। पत्रकारों से बातचीत में राणा ने बताया कि दोनों छोर जोड़ दिए गए हैं। सर्दियों में लाहौल-स्पीति में आपातकालीन सेवाएं रोहतांग टनल से दिए जाने को लेकर कुल्लू और लाहौल प्रशासन के साथ बैठक की जाएगी।

छोर मिलने के बाद सबसे पहला कार्य एलाइनमेंट का शुरू किया गया है। टनल के दोनों छोर जुडऩे के बाद अब एलाइनमेंट, ऑक्सीजन सिस्टम समेत अन्य कार्य शुरू किए जाएंगे। इसके पश्चात परियोजना के वाहनों को दोनों छोर पर जाने अनुमति होगी। रोहतांग टनल में अभी तक लगभग 1860 करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके हैं। पूर्ण रूप से टनल को तैयार करने के लिए 4035 करोड़ की राशि स्वीकृत है। टनल तक पहुंचने के लिए 5 स्नो गैलरी बनाई जानी हैं। इनमें एक बनकर तैयार है। दो पर काम चल रहा है तथा दो अन्य का काम शीघ्र आरंभ किया जाना है।

सांसद राम स्वरुप ने किया रोहतांग सुरंग का दौरा

वहीं वीरवार को देर शाम को मंडी संसदीय क्षेत्र के सांसद राम स्वरुप शर्मा ने भी रोहतांग सुरंग का दौरा किया और सुरंग के दोनों छोर मिलने पर कर्मचारियों व अधिकारियों को बधाई दी व मिठाई बांटी। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से अति महत्वपूर्ण रोहतांग टनल के दोनों छोर मिल जाने से जनजातीय जिला लाहौल- स्पीति के लोगों को 6 महीने बर्फ की कैद में नहीं रहना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अब पूरा वर्ष यहां के लोग को देश के अन्य भागों से जुड़ेगे।

उन्होंने इस अवसर पर देश और प्रदेश वासियों को बधाई देते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वायपेयी की देन यह रोहतांग सुरंग 2019 में देश की जनता को समर्पित कर दी जाएगी और इसका उद्घाटन माननीय प्रधानमंत्री नरेंद मोदी करेंगे। उन्होनें कहा कि रोहतांग टनल के बन जाने देश की सरहदों की सुरक्षा बढ़ेगी वहीं पर्यटन के क्षेत्र में भी नए पंख लगेंगे।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams