News Flash
CM Jai Ram Tahkur

अब तक इस केस में 17 गिरफ्तारियां, सरगना की तलाश जारी

हरियाणा की गाड़ी से मिली नकल के उपकरणों वाली बनियानें

सरकार ने मामले की जांच एसआईटी को सौंपी

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि रविवार को हुई पुलिस भर्ती परीक्षा को सरकार ने इसलिए रद्द किया, क्योंकि कुछ बाहरी लोग न केवल परीक्षा केंद्रों के आसपास, बल्कि परीक्षा केंद्र के अंदर किसी अन्य नाम से परीक्षा देते हुए पकड़े गए। इस मामले की जांच के लिए एसडीएम पालमपुर के नेतृत्व में एक विशेष जांच दल का गठन कर परीक्षा को तुरंत रद्द कर दिया गया। ऐसा इसलिए किया कि प्रद्देश के युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ न हो। गेयरी थियेटर में संस्कृत अभिनंदन समारोह के बाद मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में सीएम ने कहा कि लिखित परीक्षा से पहले ही कांगड़ा जिले में विशेष गुप्त सूचना मिली थी कि प्रद्देश के बाहर के राज्यों के कुछ युवक अन्य युवकों के स्थान पर लिखित परीक्षा देने की योजना बना रहे हैं।

Police Constable Recruitment

इसके आधार पर परौर सेंटर पर परीक्षा शुरू होने से पूर्व ही तीन युवकों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया और दो अन्यों को परीक्षा केंद्र से गिरफ्तार किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी दौरान परीक्षा केंद्र के आसपास संदिग्ध हालत में घूमती एक हरियाणा नंबर की गाड़ी को पकड़ा गया, जिसमें नकल करने के उपकरण से लगी तीन बनियानें बरामद की गई और जवाली क्षेत्र में मुख्य सरगना के घर से पुलिस ने 11 लाख 15 हजार रुपये बरामद किए हैं। उन्होंने कहा कि अब तक कुल 17 युवकों को गिरफ्तार किया है, जिसमें से 7 हिमाचल प्रद्देश के और 10 बाहरी राज्यों से हैं।

सीएम ने कहा कि पुलिस विभाग को निर्देश दिए गए हैं कि वे प्रतियोगी परीक्षा के लिए अपनाई जाने वाली बेहतर प्रणाली का प्रयोग करें और इसी आधार पर पुलिस भर्ती के लिए दोबारा लिखित परीक्षा का आयोजन करें, जिसके लिए उम्मीदवारों को कोई अतिरिक्त फीस नहीं देनी होगी। इस परीक्षा की तिथि जल्द तय होगी। प्रद्देश सरकार ने मामले की जांच एसआईटी को सौंप दी है।

police remand

गिरफ्तार युवक 16 तक पुलिस रिमांड पर

  • एसआईटी ने आधा दर्जन के युवक किए डिटेन

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। धर्मशाला

पुलिस कांस्टेबल लिखित परीक्षा में दूसरों की जगह पेपर देने और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का इस्तेमाल करते हुए परीक्षा देने के मामले में गिरफ्तार किए गए युवकों को 16 अगस्त तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। सभी 13 आरोपियों को सोमवार को पालमपुर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 16 अगस्त तक पुलिस रिमांड पर भेजा गया है। सोमवार देर रात को चार अन्य युवकों को भी गिरफ्तार किया है।

जांच के लिए गठित एसआईटी ने आधा दर्जन के लगभग युवकों को पूछताछ के लिए डिटेन किया है। मुख्य सरगना ज्वाली निवासी युवक अभी भी फरार है। गठित एसआईटी ने आधा दर्जन युवाओं को पूछताछ के लिए डिटेन किया है, जिनसे में पूछताछ की जा रही है। आरोपियों में 9 हरियाणा, 7 कांगड़ा और 1 यूपी से है।

डीआईजी संतोष पटियाल ने कहा कि पुलिस भर्ती मामले में गठित एसआईटी ने 5-6 युवकों को पूछताछ के लिए डिटेन किया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है। मुख्य सरगना के घर दबिश देने पर 11 लाख 15 हजार रुपये की राशि बरामद की गई है और उसकी तलाश की जा रही है। 

जिला कांगड़ा के एसपी विमुक्त रंजन ने कहा कि पुलिस भर्ती मामले में गिरफ्तार आरोपियों को पालमपुर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से सभी को 16 अगस्त तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। अब जांच के बाद ही पता चलेगा कि कब से ये सब हो रहा था। और किन-किन परीक्षाओं में ये ऐसा करते आए हैं?

kuldeep rathore

पुलिस भर्ती में लापरवाही की जांच हो: राठौर

कांग्रेस ने प्रद्देश में बेरोजगार युवाओं के साथ हो रहे अन्याय पर चिंता जताई है। कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने पुलिस भर्ती परीक्षा को रद्द करने पर सवाल उठाते हुए कहा है कि यह प्रशासन की पूरी तरह की विफलता है, जो इन परीक्षार्थियों को भुगतनी पड़ी है। परीक्षा के लिए जो मापदंड तैयार किए जाते हैं, उसमें साफ तौर पर कोताही बरती गई है।

इस पूरे मामले की जांच कर जिम्मेदारी अधिकारियों की जवाबदेही तय होनी चाहिए। कहीं इसके पीछे कोई राजनीतिक संरक्षण तो नहीं, जो अपने लोगों को परीक्षा में सफल करवाने के लिए सारा षड्यंत्र रचा गया हो। राठौर ने सरकार से मांग की है कि दोबारा होने वाली भर्ती परीक्षा के लिए युवाओं को आने जाने का पूरा खर्चा दिया जाए।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]