cancer counters

आयुष्मान कार्ड धारकों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी

आईजीएमसी ने कहा, जटिल प्रक्रिया भारत सरकार की

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
आईजीएमसी में आने वाले कैंसर रोगियों के लिए अब दो अलग आयुष्मान काउंटर खोले जाएंगे। ये काउंटर आईजीएमसी परिसर के बजाय नीचे कैंसर अस्पताल में ही खुलेंगे, ताकि मरीजों को बार-बार सीढिय़ां चढऩी-उतरनी न पड़ें। ये काउंटर आरकेएस के बजट से चलाए जाएंगे। ‘हिमाचल दस्तक’ में वीरवार को प्रकाशित खबर ‘आयुष्मान के झंझटों से हार रहे मरीज’ के बाद ये फैसला आईजीएमसी प्रशासन ने लिया है। वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जनक राज ने इसकी पुष्टि की है।

इसके साथ ही आईजीएमसी ने आयुष्मान कार्ड धारकों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं। इसके लिए मरीज या उनके परिजन एमएस दफ्तर में संपर्क कर सकते हैं या फिर नोडल अधिकारियों डा. शोमिन धीमान 9418066694 या डॉ. शाद रिजवी 7018749191 से संपर्क कर सकते हैं। आईजीएमसी प्रशासन ने कहा है कि आयुष्मान के लिए लागू की गई जटिल प्रक्रिया भारत सरकार की है और आईजीएमसी समेत सभी इंपैनल अस्पतालों को इसे फॉलो करना पड़ता है।

अस्पताल पूरी कोशिश कर रहा है कि बीमा कवर धारक मरीजों को उनकी ओर से परेशानी न आए। गौरतलब है कि आयुष्मान के तहत स्मार्ट कार्ड धारकों को एडमिशन पर ही फ्री इलाज सुविधा है। लेकिन इसके लिए मरीज को फोटो पहले एक नंबर पर व्हाट्सऐप करनी है। बुजुर्गों के लिए यही सबसे बड़ी दिक्कत है।

फिर डाक्टर को तीन बार पर्ची लिखनी है। फिर इसे वार्ड में नर्स ने साइन करना है, नर्सिंग सुपरिटेंडेंट ने और फिर डाक्टर ने भी। ये औपचारिकताएं पूरी होने के बाद दोबारा आयुष्मान काउंटर पर पहले से अप्रूव्ड पैकेज की मंजूरी लेना जरूरी है। ये मंजूरी चंडीगढ़ स्थित उस कंपनी से आती है, जिसके पास ये हेल्थ बीमा है। वहां भी डाक्टर बैठे हैं, पैकेज बदल दे रहे हैं। इससे कइयों को इलाज नहीं मिल रहा।

नहीं मिल रही दवाएं जेनरिक स्टोर खुद चलाएगा आईजीएमसी

आईजीएमसी ने जेररिक स्टोर में पिछले कई महीनों से फ्री ड्रग लिस्ट वाली दवाएं न मिलने के कारण बड़ा फैसला लिया है। इस स्टोर को एचएलएल कंपनी से वापस लेने के आदेश जारी करते हुए अस्पताल ने कंपनी को परिसर छोडऩे को कहा है। इसके बाद इस स्टोर को अस्पताल प्रबंधन खुद चलाएगा। इसका नाम जेनरिक स्टोर की जगह फ्री मेडिसन काउंटर रखा जाएगा। मरीजों के हित में यह फैसला दवाएं न मिलने की शिकायतों के बाद लिया गया है।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams