chamba gets disappointed

चार सीटें जीतने पर भी नहीं बनाया कोई मंत्री

  • मंत्री पद नहीं मिलने के पीछे दी जा रही दलील
  • मंत्रिमंडल में स्थान नहीं मिलने से जनता में छाई मायूसी

सोमी प्रकाश भुव्वेटा। चंबा
बीजेपी की झोली में चार सीटें डालने वाले चंबा जिले को मंत्रिमंडल में स्थान नहीं मिलने से जिला की जनता में मायूसी है। लोगों को पूरा भरोसा था कि जिले से हो न हो कोई मंत्री अवश्य बनाया जाएगा।

इसी उम्मीद में जिले की जनता टीवी स्क्रीन पर टकटकी लगाए बैठे देखती रही कि जिले के किसी विधायक को भी मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी। एक-एक करके मंत्री पद की शपथ दिलवाने की प्रक्रिया संपन्न हो गई, लेकिन चंबा के किसी भी चेहरे (विधायक) को मंत्री पद के लिए शपथ दिलवाने नहीं बुलाया गया। चंबा जिले को मंत्री पद नहीं मिलने के पीछे दलील दी जा रही है कि इस बार संसदीय क्षेत्र के हिसाब से मंत्री पद बांटे गए हैं, तो क्या चंबा जिले की जनता के कोई इमोशन नहीं हैं।

कांगड़ा-चंबा से जब किसी को लोकसभा या फिर राज्य सभा भेजना होता है, तो भी चंबा को इग्नोर कर कांगड़ा को तवज्जो मिलती है। अब जब राज्य सरकार बनाने में चंबा जिले की जनता ने बीजेपी को बहुमत दिलाने में अहम भूमिका निभाई है, तो इस बार फिर से यहां की जनता की झोली खाली रही है।

हैरानी इसीलिए ज्यादा हो रही है कि जब दो से तीन सीटें चंबा जिले से किसी राजनीतिक पार्टियों ने जीती हैं, तब तो यहां से हर बार किसी न किसी को एक मंत्री बनाया गया। एक मर्तबा तो जिले के दो मंत्री भी एक साथ बने हैं। पर इस बार (वर्ष 2017) तो जिले की जनता ने एक साथ चार सीटें बीजेपी की झोली में डालकर दी हैं। फिर भी चंबा जिले की जनता को मंत्री पद का तोहफा देने की बजाय इग्नोर कर दिया गया।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams