Chars smuggler

हिमाचल दस्त। मंडी
चरस तस्करी का अभियोग साबित होने पर अदालत ने दोषी को दस साल के कठोर कारावास और एक लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना राशि अदा न करने पर एक साल अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतनी होगी। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश पुने राम पहाडिय़ा की विशेष अदालत ने पश्चिमी बंगाल के पैमामेंटल स्ट्रीट (कोलकता) निवासी मोहम्मद नदीम पुत्र शेख अब्दुल मजीद के खिलाफ मादक एवं नशीले पदार्थ अधिनियम की धारा 20 के तहत अभियोग साबित होने पर उक्त सजा का फैसला सुनाया है। अभियोजन पक्ष के अनुसार औट पुलिस थाना के एएसआई मोहर सिंह की अगुआई में टीम 13 फरवरी, 2015 को झलोगी के पास गश्त और ट्रैफिक चेकिंग के लिए मौजूद थी।

इस दौरान दोषी थलौट की ओर से एक बैग के साथ मंडी की ओर आया। पुलिस को देखकर दोषी ने भागने की कोशिश की। पुलिस ने दोषी को काबू कर उसके बैग की तलाशी ली तो इसमें से 2 किलोग्राम चरस बरामद हुई थी। पुलिस ने दोषी को हिरासत में लेकर उसके खिलाफ अदालत में अभियोग चलाया था। अभियोजन पक्ष की ओर से पैरवी करते हुए उप जिला न्यायवादी नवीन चंद्र ने 8 गवाहों के बयान कलमबद्ध करवाकर आरोपी पर अभियोग साबित किया। अदालत ने दोषी को उक्त कारावास और जुर्माने की सजा का फैसला

सुनाया है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams