News Flash
cm jai ram

न कोई मंत्री, सचिव भी नही कमरों में

सीएम के दौरे के बाद आईपीएच मंत्री महेंद्र ठाकुर, स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार और पशुपालन मंत्री वीरेंद्र कंवर एक दिन रहे सचिवालय में

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के विदेश दौर के बाद सचिवालय सूना ही हो गया। सचिवालय में न तो कोई मंत्री बैठ रहा है और विभिन्न विभागों के सचिव। मुख्यमंत्री के दौरे के बाद सोमवार को सिंचाई एवं स्वास्थ्य मंत्री महेंद्र ठाकुर, स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार और पशुपालन मंत्री वीरेंद्र कंवर एक दिन सचिवालय में रहे। यह तीनों मंत्री अपने-अपने विभागों के केंद्रीय मंत्रियों से मिलने दिल्ली रवाना हो गए।

जबकि वीरवार के दिन शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज, कृषि मंत्री राम लाल मारकंडेय और सहकारिता मंत्री राजीव सहजल ही सचिवालय में बैठे। शुक्रवार को सचिवालय में कोई मंत्री नहीं था। सचिवालय में केवल मुख्यमंत्री के ओएसडी महेंद्र धर्माणी ही बैठ रहे हैं। मुख्य सचिव बीके अग्रवाल सचिवालय में हैं। प्रदेश भर से अपने-अपने कामों को करवाने आ रह लोगों को बैरंग ही लौटना पड़ रहा है।

शुक्रवार को जिला बिलासपुर से कुछ लोग अपने काम के लिए सचिवालय में आए थे। उनको न तो मुख्यमंत्री मिले और न ही कोई मंत्री। यही नही इन लोगों को मुख्यमंत्री के विदेश दौर की भी जानकारी नहीं थी। यह लोग महेंद्र धर्माणी से मिलकर लौट गए।

प्रदेश से आने वाले लोगों के काम हो रहे हैं और जो भी व्यक्ति किसी भी जिले से आ रहा उसके कागजजात मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजे जा रहे हैं। -महेंद्र धर्माणी, ओएसडी मुख्यमंत्री

कई विभागों के सचिव भी नही हैं सचिवालय में

सचिवालय में विभिन्न विभागों के सचिव भी नही हैं। अधिकतर विभागों के सचिव विदेश दौर या फिर दिल्ली में हैं। हालांकि प्रदेश की जनता को किसी भी विभाग के सचिव से सीधा संपर्क तो नहीं है, लेकिन कई विकासात्मक या विभागीय कार्यों की फाइलें विभागों के सचिवों के कार्यालय से ही निपटती हैं। शुक्रवार को केवल मुख्य सचिव और शिक्षा, परिवहन और स्वास्थ्य विभाग के सचिव ही सचिवालय में थे।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams