News Flash
retired child labor

पुलिस सहायता के लिए एचएचसी बलदेव सिंह को अपने साथ लेकर जगदीश सिंह के घर पहुंचे

हिमाचल दस्तक। पांवटा साहिब
पांवटा साहिब में शुक्रवार को चाइल्ड हेल्पलाइन की टीम ने नाबालिगों को घर में मजदूरी करते हुए पाया। उसके बाद इन बाल मजदूरों की काउंसलिंग कर उन्हें छुड़ाया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार चाइल्ड हेल्पलाइन की टीम को गुप्त सूचना मिली थी कि पांवटा साहिब के वार्ड नंबर 10 में जगदीश कुमार के घर पर दो नाबालिग बच्चे नौकर का काम कर रहे हैं। इस पर चाइल्डलाइन की टीम ने पुलिस थाना पांवटा साहिब में डीडी एंट्री करवाई व पुलिस सहायता के लिए एचएचसी बलदेव सिंह को अपने साथ लेकर जगदीश सिंह के घर पहुंचे।

चाइल्डलाइन की टीम के साथ श्रम विभाग के इंस्पेक्टर सोहन लाल, चाइल्ड लाइन की काउंसलर विनीता ठाकुर व सदस्य सुंदर सिंह भी उपस्थित थे। यह सभी जब जगदीश के घर पहुंचे, तो टीम ने पाया कि एक बच्चा घर में नौकर का काम कर रहा था। टीम ने जब इस नाबालिग से बात की, तो उसने बताया कि इसकी उम्र 13 वर्ष की है और वह यहां घर पर पिछले तीन महीनों से सुबह साढ़े सात बजे से रात को आठ बजे तक काम करता है। इसे नहीं मालूम कि इसे कितनी मजदूरी दी जाती है। क्योंकि यह पैसे तो इसके चाचा विजय को दिए जाते हैं।

जब चाइल्ड लाइन की टीम ने बालक के चाचा का बुलाया तो उसने बताया कि वह कोई पैसे नहीं लेता है। तब मकान मालिक ने बताया कि वह इस बालक की मजदूरी के पैसे इसके भाई के खाते में डलवाता है। इसका वह टीम को कोई साक्ष्य नहीं दे पाया। लेबर इंस्पेक्टर ने मकान मालिक के बयान दर्ज कर उसको नोटिस जारी किया और बच्चे को उसके चाचा विजय को सौंप दिया। साथ ही चाइल्ड लाइन की काउंसलर विनीता ठाकुर ने बालक व उसके चाचा की काउंसलिंग भी की।

यह भी पढ़ें – नाहन-शिमला एनएच पर शिल्ली-शनाड़ी में पलटी पिकअप, 11 घायल

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams