News Flash
cloudburst palampur

न्यूगल में आई बाढ़, सौरभ वन विहार को पहुंचा नुकसान

हिमाचल दस्तक। पालमपुर

पालमपुर की बंदला की पहाडिय़ों में एक बर्ष बाद फिर से बादल फट गया है। जिससे न्यूगल खड्ड में भारी बाढ़ आ गई। न्यूगल खड्ड में आई भारी बाढ़ से सौरभ वन विहार में फिर से नुकसान हुआ है। जबकि बाढ़ से बंदला के एक निजी बिजली प्रोजेक्ट में छह लोग फंस गए थे। लोगों को पुलिस प्रशासन ने रेसक्यू कर बाहर निकाल लिया है। न्यूगल खड्ड में बादल फटने की सूचना मिलते ही पुलिस के डीएसपी अमित शर्मा व प्रशासन की ओर से तहसीलदार वेदप्रकाश अग्निहोत्री सुबह ही बंदला मौके पर पहुंच गए। उन्होंने खड़्ड में आई भारी बाढ़ से जानमाल के नुकसान की पूरी जानकारी ली।

बंदला में बाढ़ से सौरभ वन विहार के अंदर फिर से पानी चला गया। जिससे ओर ज्यादा अंदर तबाही हुई है। जबकि न्यूगल खड्ड से चलने वाली पालमपुर शहर, बंदला, घुग्घर, रानी सिद्वपुर, मैंझा-फरेढ़, चौकी खलेठ, परौर-धीरा, समेत कई पेयजल योजनाएं प्रभावित हों गई है। जिससे आने वाले दिनों में लोगों को पीने के पानी की दिक्कत हो सकती है।

cloudburst palampur

पालमपुर आईपीएच के एक्सइन संजय ठाकुर ने कहा कि न्यूगल खड्ड में आई बाढ़ से दर्जनों पेयजल योजनाएं प्रभावित हो गई है। वहीं थुरल में चलने वाली डरोह-गढ़ व हैंजा मालनू पेयजल योजनाएं प्रभावित हुई हैं। जिससे आने वाले तीन दिनों में इनके अधीन गांवों में पानी की किल्लत रहेगी। आईपीएच थुरल अनिल पुरी ने कहा कि इन योजनाएं के प्रभावित होने से तीन दिन पानी की दिक्कत रहेगी।

पालमपुर के एसडीएम पंकज शर्मा ने कहा कि खड्ड की बाढ़ में बंदला में निजी प्रोजेक्ट में छह लोग फंस गए थे। प्रशासन ने मोके पर पहुच कर उन्हें रेसक्यू कर बाहर सुरिक्षत निकाल लिया है। न्यूगल खड्ड में आई बाढ़ का पता चलते ही प्रशासन व पुलिस मौके पर गए थे। बंदला की पहाडिय़ों में बादल फटने से बाढ़ आई है। जबकि प्रोजेक्ट में फंसे लोगों को निकाल लिया है व प्रशासन मोके पर मौजद है ताकि किसी भी समस्या से निपटा जा सके।

cloudburst palampur

एक वर्ष के अंतराल में फिर फटा बादल

हिमाचल दस्तक, साहिल सन्नी। पालमपुर

ठीक लगभग एक वर्ष के बाद बादल फटने से न्यूगल खडड़़ का जलस्तर बढ़ गया और उसने दोबारा सौरभ वन विहार का रूख कर लिया मंजर बहुत भयानक था जहाँ पिछले वर्ष सौरंभ वन विहार पानी मे बह गया था लेकिन फिर भी इसके बनने की उम्मीदें कायम थी । सौरभ वन विहार के पुन: निर्माण के लिए एक कमेटी बनाई गई थी तथा कमेटी ने सरकार से निर्माण कार्य हेतू 3 करोड़ रुपये की मांग की थी।

सरकार की ओर से राशि मंजूर भी हो गई थी लेकिन पैसा अभी तक नही आया था। शायद आज यह रीटेनिंग वाल लगी होती तो पानी सौरभ वन विहार की तरफ न जाता और उसके बनने की उम्मीदें कायम रहती। इसका सीधा सीधा नुकसान पालमपुर को होता नजर आ रहा है इस पर्यटन सीजन में पिछले साल के मुकाबले कम पर्यटक पालमपुर पहुचे लेकिन आने वाले समय मे अगर सौरभ वन विहार नही होगा तो इसका आंकड़ा और कम हो सकता है और इसका हर्जाना पालमपुर के ब्यापारियों खास कर जो होटल ब्यबसाय से जुड़े है उनको होने की संभावना है।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]