jai ram thakur

हिमाचल दिवस पर नई सरकार ने तय किए लक्ष्य

हिमाचल दिवस

  • लक्ष्य तय कर आगे बढ़ेगी सरकार कानून-व्यवस्था में भरोसा बहाल किया
  • लोगों के सहयोग से ही होगा हिमाचल में खुशहाली के नए युग का सूत्रपात
  • पांच स्थानों पर नए हेलिपैड बनाएंगे पर्यटन को भी नई दिशा देगी सरकार

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि उनकी सरकार छोटे छोटे कदमों से बड़ी मंजिल हासिल करेगी। सरकार लक्ष्य तय कर आगे बढ़ रही है और प्रदेश के लोगों के सहयोग से हिमाचल में खुशहाली के नए युग का सूत्रपात हो, ये प्रयास उनकी सरकार करेगी। मुख्यमंत्री 71वें हिमाचल दिवस पर ऐतिहासिक रिज मैदान से प्रदेश की जनता को संबोधित कर रहे थे। इससे पहले सीएम ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा पुलिस, भारतीय रिजर्व बटालियन, होमगार्ड और एनसीसी की टुकडिय़ों से सलामी ली।

डीएसपी अमित ठाकुर ने परेड का नेतृत्व किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने ऐसे वरिष्ठ नागरिक, जिन्हें अन्य कोई पेंशन प्राप्त नहीं हो रही है, उनकी वृद्धावस्था पेंशन की आयु सीमा को बिना किसी आय सीमा के 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया है। इससे 1.30 लाख वृद्धजन लाभान्वित हुए। महिलाओं की सुरक्षा व राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है। इसी उद्देश्य से गुडिय़ा हेल्पलाइन 1515 तथा शक्ति बटन ऐप आरंभ किया गया। उनकी सरकार ने कानून व्यवस्था में भरोसा बहाल किया है।

पर्यटकों को भी हवाई परिवहन की मिलेगी सुविधा

सरकारी काम की निगरानी के लिए सीएम डैशबोर्ड शुरू किया गया। सरकार अपने अधिकारियों और कर्मचारियों को आउट ऑफ बॉक्स सोचने के लिए प्रेरित कर रही है। वर्ष 2018-19 के बजट में समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिए 30 नई योजनाएं आरंभ की गई हैं, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। सड़कों की टारिंग के लिए 100 करोड़ जारी किए गए हैं। नए 43 एनएच के लिए कंसल्टेंट नियुक्त कर लिए हैं।

वर्तमान सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान डाक्टरों के 262 पद भरे और 2000 पैरामेडिकल स्टाफ के पद भरने की प्रक्रिया जारी है। सरकार एक ओर कृषि बागवानी का प्राथमिकता दे रही है, वहीं दूसरी ओर उद्योग और पर्यटन के जरिए रोजगार के साधन बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि उड़ान दो योजना में केंद्र सरकार ने हिमाचल को शामिल किया है। इसके लिए पांच स्थानों पर राज्य सरकार हेलीपैड का निर्माण करेगी। इससे पर्यटकों को भी हवाई परिवहन की सुविधा मिलेगी।

कदम उठाएंगे कि नूरपुर जैसा हादसा दोबारा न हो

मुख्यमंत्री ने नूरपुर बस हादसे में मारे गए स्कूली बच्चों को भी याद किया। उन्होंने कहा कि ये दुखद हादसा है और इसके बाद ही सरकार ने इंदौरा से हिमाचल दिवस कार्यक्रम को शिमला शिफ्ट किया था। उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सभी आवश्यक पग उठा रही है।

शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज, पूर्व मंत्री नरेंद्र बरागटा, शिमला नगर निगम की महापौर कुसुम सदरेट, उप महापौर राकेश शर्मा, मुख्य सचिव विनीत चौधरी, पुलिस महानिदेशक एसआर मरड़ी, उपायुक्त अमित कश्यप और पुलिस अधीक्षक ओमापति जमवाल इस दौरान उपस्थित थे।

नूरपुर हादसे में घायल एक और मासूम ने तोड़ा दम

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams