News Flash
cm jai ram thakur

शीतकालीन सत्र में CM की विपक्ष को दो टूक

  • बोले-पूरे अधिकार से चला रहा हूं सरकार सबसे न्याय करूंगा
  • बेरोजगार सिर्फ भत्ता नहीं चाहते, तभी कांग्रेस को बाहर किया
  • केवल सत्ता हथियाने को धड़ाधड़ उद्घाटन किए पूर्व सरकार ने

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। धर्मशाला
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि राज्य का विकास और स्वच्छ प्रशासन उनकी प्राथमिकता है। वह हर तरह के माफिया राज को खत्म करेंगे और इसके लिए उन्हें सभी विधायकों से सहयोग चाहिए। उन्होंने कहा कि वे कम बोलते हैं, लेकिन काम ज्यादा करने की कोशिश करते हैं। उन्होंने विपक्ष द्वारा राज्यपाल के अभिभाषण में सरकार की नीतियों का जिक्र न होने पर कहा कि वे धैर्य रखें और सरकार जो भी नीति बनाएगी और जो भी काम करेगी, उसकी जानकारी देती रहेगी। मुख्यमंत्री शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन शुक्रवार को राज्यपाल अभिभाषण पर रखे गए धन्यवाद प्रस्ताव की चर्चा का उत्तर दे रहे थे।

CM ने कहा कि उनकी सरकार बदले की भावना से कोई कार्य नहीं करेगी। पिछली सरकार के छह माह में जो संस्थान खुले हैं या जिनके शिलान्यास हुए हैं, उनकी समीक्षा करेगी। केवल वे ही संस्थान खुले रहेंगे, जो सभी मापदंड पूरे करके खोले गए हैं। जहां कुछ कमियां होंगी, उन पर पुनर्विचार होगा। उनका कहना था कि वे कोशिश करेंगे कि जनता ने उन पर जो विश्वास जताया है, उस पर खरा उतरा जाए। उन्होंने कहा कि यह खुली सरकार है और सभी से सुझाव लेकर कार्य करने वाली है। सीएम ने पूर्व सरकार द्वारा अंतिम दिनों में एक ही स्थान से किए गए धड़ाधड़ शिलान्यास और उद्घाटन पर कहा कि पूर्व सरकार ने परंपरा की धज्जियां उड़ाई और इसके पीछे लक्ष्य केवल सत्ता हासिल करना था, लेकिन वह भी उन्हें नहीं मिली।

कहा जहां कुछ कमियां होंगी, उन पर पुनर्विचार होगा

उन्होंने कहा कि अब जनता वास्तविकता में विश्वास करती है और जानती है कि क्या हो सकता है और क्या नहीं? उन्होंने कहा कि कल कुछ सदस्य कह रहे थे कि इस सरकार का स्टेयरिंग तो सीएमके पास है, लेकिन गियर कोई और डाल रहा है। संस्थान खुले रहेंगे, जो सभी मापदंड पूरे करके खोले गए हैं। जहां कुछ कमियां होंगी, उन पर पुनर्विचार होगा। उनका कहना था कि वे कोशिश करेंगे कि जनता ने उन पर जो विश्वास जताया है, उस पर खरा उतरा जाए। उन्होंने कहा कि यह खुली सरकार है और सभी से सुझाव लेकर कार्य करने वाली है।

सीएम ने पूर्व सरकार द्वारा अंतिम दिनों में एक ही स्थान से किए गए धड़ाधड़ शिलान्यास और उद्घाटन पर कहा कि पूर्व सरकार ने परंपरा की धज्जियां उड़ाई और इसके पीछे लक्ष्य केवल सत्ता हासिल करना था, लेकिन वह भी उन्हें नहीं मिली। उन्होंने कहा कि अब जनता वास्तविकता में विश्वास करती है और जानती है कि क्या हो सकता है और क्या नहीं? उन्होंने कहा कि कल कुछ सदस्य कह रहे थे कि इस सरकार का स्टेयरिंग तो सीएम के पास है, लेकिन गियर कोई और डाल रहा है। ऐसा कतई नहीं है। स्टीयरिंग, गियर और ब्रेक, सब उनके पास हैं।

उनका कहना था कि सबको रोजगार देना संभव नहीं

यह गाड़ी बिल्कुल फिट है और सभी को सुरक्षित लक्ष्य तक पहुंचाएगी। जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्य में जो भी माफिया है, उसका खात्मा जरूरी है इसके लिए विपक्ष का सहयोग भी जरूरी है। उनका कहना था कि उनकी सरकार में भ्रष्टाचार के लिए भी कोई स्थान नहीं है। आज युवा बेरोजगारी भत्ता नहीं, रोजगार चाहता है। इसलिए उसने कांग्रेस सरकार को नकारा है। कांग्रेस सरकार ने इसे जब घोषित किया तो केवल 20 हजार को ही बेरोजगारी भत्ता मिला है, और इस पर 7.50 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार के आजीविका के साधन कैसे ज्यादा से ज्यादा युवाओं को उपलब्ध करवाए जाएं, इस पर काम करेगी। उनका कहना था कि सबको रोजगार देना संभव नहीं है। सरकार संसाधन जुटाएगी और युवाओं को आत्मनिर्भर की दिशा में कदम उठाएगी। उन्होंने कहा कि सदन में कहा गया कि नेता किसी और को घोषित किया गया था और बन कोई और गया है। उन्होंने कहा कि विपक्ष में भी ऐसा ही है। वहां भी नेता कोई और घोषित थे और बन कोई और गए। ऐसे में कुछ बातें ऊपर वाले पर छोड़ देनी चाहिए।

कोटखाई प्रकरण : सूरज के परिवार को 3 लाख दिए

सीएम ने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था के कारण देवभूमि का सिर झुका है। गुडिय़ा कांड की जांच सीबीआई कर रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस की एसआईटी जेल में है। उन्होंने कहा कि पुलिस लॉकअप में सूरज की हत्या से देवभूमि बदनाम हुई है। ऐसे में पुलिस बल पर विश्वास बहाली में समय लगेगा। उन्होंने घोषणा की कि सरकार सूरज के परिजनों को तीन लाख रुपये की मदद देगी। सूरज की पुलिस थाना कोटखाई में पूछताछ के दौरान मौत हो गई थी। हिरासत में हत्या के इस केस में अब पुलिस वाले आईजी समेत अंदर हैं। जयराम ठाकुर ने कहा कि पुलिस में हुए तबादलों पर विपक्ष बेवजह हल्ला कर रहा है। ये रूटीन बदलाव हैं, जो जरूरी थे।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams