News Flash
CM office returned transfers of DO

लंबित आवेदनों में भी अब नए सिरे से करना होगा आवेदन ,  बड़े महकमों को कर्मियों के लिए व्यवस्था करने को कहा

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : सरकारी कर्मचारियों के तबादलों पर से बैन हटाते ही मुख्यमंत्री कार्यालय ने उनके यहां लंबित पड़ी सिफारिशों और डीओ को संबंधित विभागों या मंत्रियों को लौटा दिया है। इससे अब इन लंबित आवेदकों को नए सिरे से तबादला खुलने की अवधि के भीतर अपने विभागाध्यक्ष या मंत्री को आवेदन करना होगा।

कार्मिक विभाग की ओर से सभी बड़े विभागों को कहा गया है कि कर्मचारियों से तबादलों के आवेदन लेने और इन्हें समयबध निपटाने के लिए पूरी व्यवस्था करें। तबादलों पर ये बैन क्लास थ्री और फोर के लिए हटा है। ये रोक केवल एक हफ्ते के लिए हटाई गई है। 21 जून से 1 जुलाई 2019 तक रोक हटी है। इस अवधि में संबंधित मंत्री ही ट्रांसफर आर्डर कर सकेंगे। तबादले केवल 2013 में जारी तबादला सिधांतों के प्रावधानों और उनके संशोधन के तहत उपलब्ध प्रक्रिया के अनुसार ही होंगे। कर्मचारी के लिए तीन साल का स्टे लिया जाएगा। प्रशासनिक जरूरत को देखते हुए दो साल की अवधि भी मान्य होगी। हालंाकि इस बार 25 किलोमीटर के दायरे के भीतर वाली शर्त नहीं लगाई गई है।

दिल्ली रवाना हुए सीएम मुख्य सचिव भी गए

बेशक तबादलों पर से रोक हट  गई हो, लेकिन इन फाइलों को डील करने वाले शायद ही कर्मचारियों को सचिवालय में मिलें। विदेश दौरे पर जाने के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह के साथ शनिवार को दिल्ली रवाना हो गए। वह कल दुबई जाएंगे और फिर 29 को शिमला लौटेंगे। उनके जाने के साथ ही मुख्य सचिव बीके अग्रवाल भी दिल्ली चले गए हैं। इससे पहले मुख्यमंत्री के प्रधान निजी सचिव डॉ. श्रीकांत बाल्दी पहले ही चले गए हैं। इसलिए संभव है कि आने वाले सप्ताह में सचिवालय में मंत्री और अफसर कम ही मिलें।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams