News Flash
rajendra rana

पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र को कोर्ट से मिला था न्याय

बोले, भाजपा ने हमेशा झूठ की ही राजनीति की

हिमाचल दस्तक। सुजानपुर
पूर्व में जब-जब प्रदेश में भाजपा सरकार आई तब-तब इस सरकार ने प्रदेश में विकास करवाने की बजाय पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के ऊपर केवल झूठे मामले बनाने का काम किया था, लेकिन वीरभद्र सिंह हर मामले में पाक साफ निकले और न्यायालय ने उन्हें हर मुकदमे से बाइज्जत बरी किया, उस समय भी सत्यमेव जयते हुई थी। यह बात सुजानपुर विधायक राजेंद्र राणा ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में कही। उ

न्होंने पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल एवं उनके बेटे सांसद अनुराग ठाकुर के उस बयान पर हमला बोलते हुए कहा कि आज ये भाजपा नेता कहते फिर रहे हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने उनके ऊपर षड्यंत्र के तहत झूठे मामले दर्ज करवाए, लेकिन भाजपा नेताओं को यह बात जान लेनी चाहिए जब प्रदेश में 1998 से 2003 तक भाजपा सरकार थी और खुद प्रेम कुमार धूमल प्रदेश के मुख्यमंत्री थे तो उस समय इस सरकार में वीरभद्र सिंह के ऊपर सागर कथा मामला दर्ज करवाया था, लेकिन उस समय भी सत्य की ही जीत हुई थी।

इसके बाद जब प्रदेश में एक बार पुन: भाजपा सरकार 2007 से 2012 तक आई तब सीडी केस वीरभद्र पर चलाया गया, जिस पर भी उन्हें न्यायालय से राहत मिली। विधायक ने कहा कि प्रदेश और देश की न्यायालय प्रणाली पर व और उनकी कांग्रेस पार्टी पूरा विश्वास करती है। न्यायालय कभी गलत नहीं होता। वीरभद्र सिंह के ऊपर भाजपा पार्टी ने झूठ एवं षड्यंत्र के तहत मामला दर्ज करवाए थे, इसमें में वे पाक साफ निकले थे।

कहा भाजपा सरकार शायद इस बात को भूल गए कि झूठ फरेब और धोखाधड़ी की राजनीति कौन करता है

विधायक ने कहा कि भाजपा पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल उनके बेटे सांसद ठाकुर 2014 लोकसभा चुनावों प्रचार के दौरान प्रदेश के हर जिला में यही बयान देते रहे कांग्रेस सरकार चंद दिनों के मेहमान हैं, यह गिरने वाली है, वीरभद्र सिंह को जेल होने वाली है, लेकिन वीरभद्र सिंह आज भी चट्टान की तरह मजबूती से पाक साफ होकर प्रदेश में स्पष्ट छवि बना कर बैठे हैं। भाजपा सरकार शायद इस बात को भूल गए कि झूठ फरेब और धोखाधड़ी की राजनीति कौन करता है। यह उन्हें केंद्र की मोदी सरकार से पूछना चाहिए जब पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के घर में बेटी के शादी वाले दिन सीबीआई रेड करवा कर दी गई थी तो उस समय भाजपा की सत्यमेव जयते कहां गई थी।

विधानसभा चुनावों से पहले धूमल के छोटे बेटे अरुण धूमल सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र में प्रचार के दौरान हर तरफ एक ही बात कहते रहे की विधानसभा चुनावों के परिणाम घोषित होते ही अगले दिन वीरभद्र सिंह सलाखों के पीछे होंगे तो ऐसा तो कुछ नहीं हुआ। लेकिन चुनावों के परिणाम के दौरान एक बात जरूर देखने में आई जो उम्मीदवार सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी बनकर मैदान में उतरा था और मुख्यमंत्री बनने के सपने ले रहा था उसकी घर वापसी जरूर हुई थी और उस समय भी सत्यमेव जयते हुई थी।

यह भी पढ़ें – भरमौर प्रशासन ने रेस्क्यू टीम को वापस बुलाया

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams