News Flash
congress gagrat

पुलिस पर राजनीतिक दवाब के तहत कार्रवाई न करने का आरोप

मामले में ढील बरती तो होगा उग्र प्रदर्शन: कालिया

हिमाचल दस्तक, देवेंद्र सूद। गगरेट

विधानसभा क्षेत्र गगरेट के एक सरकारी स्कूल की छात्रा द्वारा स्कूल के शिक्षक पर लगाए गए छेड़छाड़ के आरोपों के बाद भी आरोपी शिक्षक की अभी तक गिरफ्तारी न होने पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पूर्व सचिव एवं पूर्व मुख्य संसदीय सचिव राकेश कालिया ने कड़ा ऐतराज जताया है। उन्होंने आरोप लगाया कि आरोपी शिक्षक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से संबद्ध है। यही वजह है कि भारी राजनीतिक दवाब के पुलिस कोई भी कार्रवाई नहीं कर रही है।

इस मुद्दे को लेकर शनिवार को पूर्व मुख्य संसदीय सचिव राकेश कालिया की अगुवाई में सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने गगरेट में रोष मार्च निकालकर विधायक के विरुद्ध उग्र नारेबाजी की। एसडीएम कार्यालय में ज्ञापन सौंपकर आरोपी शिक्षक की तत्काल गिरफ्तारी की मांग कर डाली। उन्होंने प्रदेश सरकार व पुलिस प्रशासन को चेताया है कि अगर इस मामले में ढील बरती गई तो कांग्रेस उग्र प्रदर्शन करने से भी गुरेज नहीं करेगी।

पूर्व मुख्य संसदीय सचिव राकेश कालिया ने कहा कि गगरेट में सत्ता के प्रभाव में कानून व्यवस्था का दिवाला निकल चुका है। क्षेत्र के अब तक पांच स्कूलों में शिक्षकों पर छेड़छाड़ और दुष्कर्म के आरोप लग चुके हैं। इनमें से कुछ मामले तो राजनीतिक दबाव के चलते दबा दिए गए और अब जिस शिक्षक पर छात्रा ने छेड़छाड़ के संगीन आरोप लगाए हैं वह आरएसएस की पृष्ठभूमि का होने के कारण राजनीतिक दबाव के चलते सलाखों के पीछे जाने से बचा हुआ है।

उन्होंने कहा कि विधायक राजेश ठाकुर की अधिकारियों पर कोई पकड़ नहीं है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि वह आपराधिक पृष्ठभूमि के लोगों का संरक्षण करने के लिए ही विधायक बने हैं क्योंकि अगर विधायक का दबाव न होता तो पुलिस पांच मिनट में ही ऐसे संगीन अपराध के आरोपी को सलाखों के पीछे करती।

विधायक महज शादियों में धाम खाने और स्कूलों में सांस्कृतिक कार्यक्रम देखने तक ही सीमित है, और राजनीतिक पर्यटक की तरह चार बजते ही अपने गृह क्षेत्र इंदौरा का रुख कर रहे हैं। जनता की समस्याओं से उन्हें कोई सरोकार नहीं है। चिट्टा माफिया राजनीतिक संरक्षण में फलफूल रहा है। उन्होंने कहा कि पुलिस अगर यूं ही राजनीतिक संरक्षण में काम करती रही तो कांग्रेस उग्र प्रदर्शन करने से भी गुरेज नहीं करेगी।

इस अवसर पर पूर्व ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष कै. बलवंत परमार, वेद पराशर, अनिल डढवाल, ठाकुर सुरेंद्र सिंह, अजेश जसवाल,अजय पाल सिंह, गुरमेल सिंह, विष्णु दत्त गर्ग, धर्मपाल सोनू, राजन शर्मा, दलविंदर सिंह, युकां अध्यक्ष अमन ठाकुर, मनु शारदा, चंदन शर्मा, विकास पराशर, अजय सोनू, सहित भारी तादाद में कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

शिक्षक ने शिक्षा जगत को किया कलंकित

ग्राम पंचायत दियोली के उपप्रधान और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अनिल डढवाल ने क्षेत्र के एक सरकारी स्कूल की छात्रा के साथ उसी स्कूल में कार्यरत शिक्षक द्वारा की गई छेड़छाड़ के मामले को काला अध्याय करार दिया है। उन्होंने कहा कि शिक्षक को भगवान की तरह माना जाता है, लेकिन उक्त शिक्षक द्वारा जो कृत्य किया गया है उसने समूचे शिक्षा जगत को कलंकित किया है। उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा कि उक्त शिक्षक के विरुद्ध पोक्सो के तहत मामला दर्ज किया गया है, लेकिन बावजूद इसके शिक्षक की अभी तक गिरफ्तारी न होना पुलिस प्रशासन पर भी कई सवाल खड़े कर रहा है। अनिल डढवाल ने कहा कि जिस प्रकार उक्त शिक्षक के आरएसएस की विचारधारा से जुड़े होने की बात सामने आ रही है उससे साफ हो रहा है कि भारी राजनीतिक दबाव के चलते ही पुलिस शिक्षक की गिरफ्तारी करने से बच रही है।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]