News Flash
Congress ticket

सियासी विरासत अपने पास रखने को बुटेल परिवार में दिलचस्प द्वंद्व

बीबीएल बुटेल, उनका बेटा और बीबीएल बुटेल के भाई स्व. कुंज बिहारी बुटेल का पोता गोकुल रेस में

शारदाआनंद गौतम। पालमपुर
पालमपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस टिकट के लिए इस बार मजेदार खेल बना हुआ है। यहां से कांग्रेस टिकट के लिए मौजूदा विधायक बृज बिहारी लाल बुटेल ने तो टिकट मांगा ही है, उनके बेटे आशीष बुटेल ने भी आवेदन किया है या कह लो उनसे आवेदन करवाया गया है। रोचक तरीके से बृज बिहारी बुटेल के बड़े भाई स्वर्गीय कुंज बिहारी बुटेल के पोते गोकुल बुटेल ने भी टिकट मांगा है।

बृज बिहारी बुटेल अब अपनी विरासत बेटे को सौंपनी चाहते हैं

वैसे पालमपुर कांग्रेस की सियासी गुलेल में बुटेल ही बुटेल रहे हैं। सो इस बार भी कांग्रेस का टिकट बुटेल परिवार से बाहर न जाए, इसलिए पूरी बिसात तैयार की गई है। पिता-पुत्र और पोते के इस तिकोन में कई मजेदार बाते हैं। यह कांग्रेस के दो खेमों का खेल भी है। मसलन बृृज बिहारी बुटेल को किन्हीं कारणों से टिकट नहीं मिल पाता तो उनके बेटे आशीष बुटेल हाजिर हैं। इसकी पटकथा कुछ समय पहले ही लिखी गई और उसके हिसाब से बृज बिहारी बुटेल अब अपनी विरासत बेटे को सौंपनी चाहते हैं। लिहाजा हर कार्यक्रम में आशीष बेटेल को आगे रखा जा रहा है। यह कांग्रेस का ऐसा खेमा माना जाता है, जो CM वीरभद्र सिंह खेमे से अलग है।

स्वर्गीय कुंज बिहारी बुटेल यहां से शुरुआती कद्दावर नेता रहे हैं। लेकिन उनके स्वर्गवास के बाद उनके बेटे सियासत में नहीं आए। अब सीधे पोते गोकुल बुटेल ने सियासत में एंट्री मारी है। गोकुल, वीरभद्र सिंह के आईटी सलाहकार हैं और उन्हें मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का पूरा आशीर्वाद प्राप्त है। इस सरकार के समय से खूब सक्रिय भी हैं। अब टिकट के लिए आवेदन कर दिया है।

टिकट आवंटन में किसकी चलती है, उस हिसाब से ही पालमपुर का टिकट भी तय होगा। बहरहाल जो भी हो लेकिन कांग्रेस का टिकट फिर भी बुटेल परिवार में ही रहेगा। कोई सियासी चमत्कार हुआ तभी कांग्रेस पार्टी बुटेल खानदान से बाहर जाएगी, अन्यथा खेल बुटेल परिवार से ही जुड़ा रहेगा।

 

एम्स को जमीन मेरी नहीं तो पैसा भी PM का नहीं लगेगा, CM का पलटवार

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams