News Flash
congress

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रेसवार्ता में किया दावा

  • कहा, मोदी के खिलाफ युवाओं ने किया मतदान
  • पिछले 15 साल से हार रही सीटों पर हुए मजबूत
  • खुद तीसरा चुनाव लड़ रहा हूं, मंत्री पद की आस नहीं

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला

प्रदेश में इस बार अधिक वोटिंग को देखते हुए कांग्रेस ने जीत का दावा किया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने दावा किया कि इस बार कांग्रेस 40 सीटों के साथ कांग्रेस रिपीट करेगी। शिमला में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए सुक्खू ने कहा कि प्रदेश में बंपर वोटिंग मोदी सरकार के खिलाफ हुई है। उन्होंने कहा कि 18 दिसंबर को परिणाम सामने आएगा और कांग्रेस की सरकार फिर से बनेगी।

बीजेपी ने चुनावों से पहले मिशन-50 प्लस का लक्ष्य रखा था और बाद में उनके केंद्रीय नेता 40 सीटों पर आकलन करने लगे। केंद्र सरकार की जनविरोधी और युवा विरोधी नीतियों के चलते इस बार प्रदेश में अधिक मतदान हुआ है। सुक्खू ने कहा कि पीएम मोदी ने लोकसभा चुनावों के दौरान बेरोजगारी समाप्त करने एवं युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन वह पूरा नहीं हुआ। इसके साथ-साथ नोटबंदी और जीएसटी ने हिमाचल सहित पूरे देश को धोखा दिया।

सुक्खू ने कहा कि जीएसटी से प्रदेश के व्यापारी दुखी थे और उन्होंने कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया है। उन्होंने दावा किया कि अधिक वोटिंग कांग्रेस के लिए शुभ संकेत हें। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की माने तो पिछले 15 साल से जिन सीटों पर कांग्रेस हारती आ रही थी, वहां इस बार काफी मजबूती मिली है। सुक्खू ने कहा कि वे तीसरा चुनाव लड़ रहे हैं। चुनाव जीतने एवं प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने की स्थिति में भी वे मंत्री पद की आस नहीं रखते।

नारेबाजी से नहीं बनते नेतृत्व

सुक्खू ने कहा कि नोरबाजी से नेतृत्व नहीं बनते। एक सवाल के जवाब में सुक्खू ने कहा कि राहुल गांधी की नगरोटा रैली में वहां के लोगों ने नारेबाजी की होगी, लेकिन कांग्रेस के लिए वीरभद्र सिंह ही मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हैं। चुनावों के दौरान पार्टी की ओर से 40 स्टार प्रचारक थे, मगर जिन क्षेत्रों के नेताओं की मांग आ रही थी, उस हिसाब से स्टार प्रचारकों ने अपनी भूमिका निभाई। उन्होंने माना कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने अधिकांश क्षेत्रों में चुनावी रैलियां की।

इनकार के बावजूद दीपक ने भरा था नामांकन

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि ठियोग सीट पर दीपक राठौर को नामांकन भरने से इनकार किया गया था, फिर भी उन्होंने नामांकन भरा। उन्होंने कहा कि दीपक ने यह कह कर नामांकन भरा था कि बाद में नाम वापस ले लेंगे। सुक्खू ने माना कि ठियोग सीट पर कांग्रेस के लिए विद्या स्टोक्स ही सशक्त उम्मीदवार थी और वह सीट निकाल भी सकती थी। उन्होंने कहा कि पार्टी प्रत्याशी के साथ कम्युनिकेशन गैप के कारण विद्या स्टोक्स का नामाकन रद हुआ।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams