News Flash
Criminal case registered on SDM

प्रेसवार्ता : कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग को भेजी जांच करने की शिकायत ,  ईवीएम के स्ट्रांग रूम को खोलने के पांच माह बाद कार्रवाई पर सवाल

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला :  प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने शिमला जिला में चौपाल के एसडीएम पर ईवीएम के स्टा्रंग रूम को खोलने के मामले में निर्वाचन आयोग की कार्रवाई के बाद प्रदेश सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस ने एसडीएम पर आपराधिक मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार करने व पूछताछ की मांग की है।

यह भी आरोप लगाया कि यह सब सरकार के इशारों पर हुआ है, जिसकी जांच होनी चाहिए। बुधवार को प्रेसवार्ता के दौरान कांग्रेस के प्रदेश महासचिव रजनीश किमटा ने कहा कि एक उच्च अधिकारी के बिना किसी इजाजत के ईवीएम वाले स्ट्रांग रूम को खोलने से कई सवाल पैदा हुए हैं। मामले में एसडीएम को बदलकर दूसरे स्थान पर बिठाना कोई सजा नहीं। ऐसे अधिकारी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज होना चाहिए और हिरासत में लेकर पूछताछ होनी चाहिए कि किसके इशारे पर यह कदम उठाया था।

उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग ने यह कार्रवाई पांच माह बाद तब की, जब आदर्श चुनाव आचार संहिता लगी। उन्होंने पूछा कि यह मामला क्यों दबा रहा, इसके पीछे कौन थे। किसके कारण कार्रवाई नहीं हुई। किमटा ने कहा कि पार्टी ने निर्वाचन आयोग में शिकायत देकर इस संबंध में कार्रवाई की मांग की है। किमटा ने कहा कि ईवीएम से कथित छेड़छाड़ का चौपाल में खुलासा हुआ है। हो सकता है कि अन्य हलकों में भी हुआ हो। उन्होंने मांग की कि ईवीएम की सुरक्षा राज्य पुलिस से हटाकर सेना के हवाले की जाए।

बिंदल के पार्टी की बैठकों में जाने पर उठाए सवाल

कांग्रेस महासचिव ने विधानसभा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल के बद्दी में भाजपा की कोर कमेटी की बैठक में जाने को भी गलत कहा। उन्होंने सवाल उठाया कि विधानसभा अध्यक्ष पार्टी से ऊपर होते हैं और उन्हें इस पद की गरिमा को बनाए रखना चाहिए। बिंदल फिर भी बैठक में गए, जिसके चलते चुनाव आयोग को उनपर भी कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में लगाए गए कूड़ेदानों पर से भी सांसदों के नामों को हटाने की मांग की।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams