News Flash
dadagiri allegations

अभिभावकों ने की नारेबाजी, स्कूल जाने से रोके बच्चे

कहा, बच्चों को कई दिन से शिक्षक कर रहा प्रताडि़त

रमेश पहाडिय़ा। नाहन
राजकीय उच्च विद्यालय ऊंचा टिक्कर में एक शिक्षक ने छात्रों को प्रताडि़त किया, जिस पर अभिभावकों ने शिक्षक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जानकारी के मुताबिक यह अध्यापक कई वर्षों से छात्रों को प्रताडि़त करता रहता था। शिक्षक बिना गलती के ही न केवल बच्चों से मारपीट करता था, बल्कि बच्चों के मां-बाप को भी गाली-गलौज करता रहता है। वहीं बच्चे घर में शिक्षक के डर से नहीं बताते थे। अध्यापक की हिटलरगिरी का खुलासा तब हुआ, जब बच्चे स्कूल जाने के नाम बहाना बनाते थे। जब अविभावकों ने अपने बच्चों से पूछा तो सारी बात सामने आई।

अभिभावकों का कहना है कि कुछ दिन पहले छात्रों ने पीने के लिए पानी मांगा तो अध्यापक ने जबरदस्ती डेढ़ लीटर पानी पिला दिया। जब बच्चों ने शौच के लिए निवेदन किया तो अध्यापक ने बच्चों को खेल मैदान में 20 चक्कर दौडऩे को कहा। अविभावकों ने इस संबंध में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, डीसी सिरमौर व शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारी को लिखित में शिकायत भेज दी हैं। उन्होंने कहा कि जब तक इस अध्यापक पर कार्रवाई नहीं होती, तब तक कोई भी बच्चा स्कूल नहीं जाएगा।

वहीं चाइल्ड हेल्पलाइन के रामलाल ने कहा कि शिकायत के आधार पर हमने मौके पर जाकर छानबीन कर ली हैं। इस बारे में बच्चों को पूछा गया तो मगर बच्चों ने कोई जवाब नहीं दिया। अविभावकों की शिकायत पर उपनिदेशक शिक्षा विभाग नाहन व शिक्षा खंड अधिकारी को आगामी कार्रवाई भेज दी हैं।

क्या कहते हैं बीईओ

शिक्षा खंड अधिकारी संगड़ाह रविंद्र चौहान ने कहा कि ऊंचा टिक्कर स्कूल के एक शिक्षक के खिलाफ शिकायत मिली है। विभाग द्वारा जांच की जा रही है। यदि जांच में कुछ पाया गया तो उक्त अध्यापक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी व मामला उच्चाधिकारी को भेज दिया जाएगा।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams