School upgrade

गनेड़ School upgrade न होने से आई नौबत

हिमाचल दस्तक, तीसा।। चंबा जिले की ग्राम पंचायत तीसा द्वितीय,जुंगरा और खजुआ बिहाली की बेटियां School upgrade न होने से दसवीं कक्षा पास करने के बाद घर बैठने को मजबूर हैं। हाई स्कूल गनेड़ के उपग्रेड न होने की सूरत में ही इस प्रकार की नौबत पेश आई है।

  • अभिभावकों ने प्रदेश सरकार व शिक्षा विभाग से की मांग 
  • मां-बाप बेटियों को शिक्षा हासिल करने इतने दूर नहीं भेज पाते

वहीं, हाई स्कूल गनेड़ में दसवीं तक की पढ़ाई करने के बाद युवकों के माता-पिता उन्हें उच्च शिक्षा दिलवाने के लिए 15 से 20 किलोमीटर दूर सीनियर सेकेंडरी स्कूल तीसा भेज देते हैं। बावजूद इसके गरीबी और स्कूल के अति दूर होने की सूरत में अधिकांश मां-बाप अपनी बेटियों को शिक्षा हासिल करने के लिए इतने दूर नहीं भेज पाते हैं।

सेकेंडरी स्कूल का दर्जा प्रदान करवाए जाने की मांग जोर-शोर से उठाई

बहरहाल, क्षेत्र के बाशिंदों ने प्रदेश सरकार और शिक्षा महकमें से हाई स्कूल गनेड़ को अपग्रेड कर सीनियर सेकेंडरी स्कूल का दर्जा प्रदान करवाए जाने की मांग जोर-शोर से उठाई है। उल्लेखनीय है कि हाई स्कूल गनेड़ का दर्जा बढ़ा कर दस जमा दो करने की मांग ग्रामीणों ने जोर-शोर से उठानी आरंभ कर दी है। ग्रामीणों की मानें तो दसवीं तक की शिक्षा हासिल करने के बाद उनके बच्चों को उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए 15 से 20 किलोमीटर का सफर तय कर सीनियर सेकेंडरी स्कूल तीसा का ही रूख करना पड़ता है।

क्षेत्र की बच्चियों का भविष्य अंधकार में

ऐसे में जहां बच्चे स्कूल से घर पहुंचने तथा घर से स्कूल जाने के चक्कर में काफी थक जाते हैं। तो वहीं, गरीबी व तंगहाली के चलते अभिभावक अपनी बेटियों को इतने दूर उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए नहीं भेजते हैं। जिस कारण क्षेत्र की बच्चियों का भविष्य अंधकारमय ही बनता जा रहा है।अभिभावकों ने प्रदेश सरकार व शिक्षा विभाग से मांग की है कि प्राथमिकता के आधार पर गनेड़ हाई स्कूल का दर्जा बढ़ाया जाए। जिससे क्षेत्र की तीन पंचायतों तीसा द्वितीय, जुंगरा और खजुआ बिहाली के बच्चों को इसका भरपूर लाभ मिल सके।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams