Death of snake bite

जन्म दिन से एक दिन पूर्व, प्रशासन ने दी 10 हजार की फौरी राहत

हिमाचल दस्तक। शाहतलाई
विकास खंड झंडूत्ता की झबोला पंचायत के गांव तांबडी में छह वर्षीय बच्चे की जन्मदिन से पूर्व सर्पदंश से मौत हो गई। घटनाक्रम के मुताबिक स्थानीय निवासी सुखदेव सिंह के दोनों बच्चे कार्तिक बनियाल (9) और सचिन (6) वीरवार को अपनी मां के साथ मवेशीखाना में चले गए। वहां सुखदेव की पत्नी मवेशियों को चारा आदि डालने लगी और कार्तिक व सचिन आपस में खेलने लगे। खेलते-खेलते सचिन का पांव मवेशीखाने में दीवार के साथ रखे घास पर पड़ गया।

सचिन के पैर में कांटा चुभने जैसा अहसास हुआ और वह रोता हुआ अपनी मां के पास आया और घास के गट्ठर में कांटा चुभने की बात बताई। सचिन की मां ने सचिन का पांव देखा। निशान देखकर उसे कुछ शंका हुई, तो वह घास के निकट जाकर देखने लगी। सचिन की मां को घास में सांप नजर आया। अभी वह कुछ समझ पाती, इसी बीच सांप ने सचिन की मां पर भी हमला बोल दिया। अब उसे यकीन हो गया कि सचिन को कांटा नहीं चुभा अपितु सांप ने काटा है।

वह मवेशीखाने से दौड़कर घर पहुंची और बच्चे को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बड़सर पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने सचिन को मृत घोषित कर दिया। बच्चे की मौत से पूरे गांव में मातम का माहौल है। उधर, घटना की सूचना मिलने पर एसडीएम नवीन शर्मा ने नायब तहसीलदार रामेश्वर गौतम के माध्यम से पीडि़त परिवार को फौरी राहत के तौर पर दस हजार रुपये दिए हैं।

निकला पांच फुट लंबा सांपों का जोड़ा

घटना के बाद परिजनों ने सांप पकडऩे वालों को बुलाया। काफी देर मशक्कत के बाद सपेरे ने मवेशीखाने से कोबरा नस्ल का सांपों का जोड़ा पकड़ लिया। दोनों सांप करीब पांच फुट लंबे थे।

108 होती तो शायद बच जाती जान

सुखदेव ने बताया कि फोन मिलने के बाद वह घर की ओर चल पड़ा। इस बीच मेरी पत्नी पूजा गांव के एक व्यक्ति को साथ लेकर बाइक पर सचिन को लेकर बडसर के लिए चल दिए। गांव से तीन किलोमीटर तक सचिन को बाइक पर लाया गया, जहां से मैं उसे टैक्सी में लेकर बडसर पहुंचा। सुखदेव ने कहा कि नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में यदि 108 एंबुलेंस उपलब्ध होती, तो उसके बेटे की जान बच सकती थी।

विधायक ने जताया शोक

स्थानीय विधायक रिखी राम कौडल, पंचायत प्रधान सपना बनियाल ने घटना पर दुख प्रकट किया है। पंचायत के उप प्रधान अश्वनी बनियाल, राहुल, पूर्व प्रधान महेंद्र सिंह, पूर्व बीडीसी अनिल ठाकुर, कुलदीप सिंह, भाग सिंह, मदनलाल, सुखदेव शर्मा, परस राम, कृष्ण कुमा, मनोज कुमार, अजय कुमार, सुनील ठाकुर, शिवकुमार ने शोक संतप्त परिवार के प्रति गहन संवेदनाएं व्यक्त की हैं। इसके अलावा कुलजीत सिंह, राज कुमार, राजेश कुमार, शुभम, राजकुमार बनियाल, सुरेंद्र कुमार ने भी बच्चे की मौत पर दुख प्रकट किया है।

मौत से सिर्फ दो घंटे पहले मोबाइल पर पिता से कहा था

टॉफियां नहीं लाए, तो नहीं करूंगा बात

शाहतलाई : वीरवार को अकाल मौत का ग्रास बने 6 वर्षीय सचिन का शुक्रवार यानी 4 अगस्त को जन्मदिन था। इतना ही नहीं सचिन अपने जन्म वाले दिन ही स्कूल में दाखिला भी लेना चाहता था। शुक्रवार को सचिन का जन्मदिन मनाने के साथ उसे पहली मर्तबा स्कूल भेजने की तैयारियां घर में हो रही थीं। सचिन की हर डिमांड पूरी की जा रही थी। वीरवार को सांप के काटने से करीब दो घंटे पहले सचिन ने अपने पापा सुखदेव से मोबाइल पर बात की और अपनी डिमांड्स भी गिना दीं।

मोबाइल पर सचिन से हुई अंतिम बातचीत का जिक्र करते हुए सुखदेव की आंखें छलछला गईं। सुखदेव ने बताया कि सचिन कह रहा था कि पापा कल मैंने स्कूल जाना है और वहां मैं अपने सभी साथियों में टॉफियां भी बांटूंगा। क्योंकि एक तो मेरा जन्मदिन है और दूसरा मैंने पहले दिन स्कूल जाना है। इसलिए घर आते समय ढेर सारी टॉफियां लेकर आना, नहीं तो मैं आपसे कभी बात नहीं करूंगा। सचिन के ये अंतिम बोल सुखदेव के कानों में जस के तस गूंज रहे हैं।

सुखदेव ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि उनके लाडले के मुंह से निकले कभी बात नहीं करूंगा के शब्द सच साबित होने वाले हैं और सचिन उन्हें सदा के लिए छोड़कर जाने वाला है। सुखदेव ने बताया कि जन्मदिन मनाने के लिए सचिन की डिमांड के मुताबिक केक का ऑर्डर भी दे दिया था। इतना ही नहीं विधि-विधान से पूजा-अर्चना करवाने के लिए नवग्रह पूजन की सामग्री भी खरीद ली गई थी और पंडित जी को भी निमंत्रण दे दिया गया था।

…एक और फोन ने खिसका दी पांव से जमीन

सचिन के साथ बातचीत के कुछ ही देर बाद सुखदेव का मोबाइल फोन फिर घनघनाया। सुखदेव ने यह सोचकर फोन उठाया कि अबकी बार फिर सचिन ही कोई नई डिमांड करेगा। लेकिन दूसरी ओर उसकी पत्नी पूजा थी और पूजा ने कहा कि जल्दी से घर चले आओ…सचिन को सांप ने काट लिया है। इतना सुनते ही मेरे पांव तले से जमीन खिसक गई। जैसे-तैसे जल्दबाजी में घर पहुंचा और बेटे को लेकर अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams